उत्तर प्रदेश में दलित वोट पर किसका हक? विधानसभा चुनाव से पहले चंद्रशेखर ने मायावती को दिया यह ऑफर

उत्तर प्रदेश में दलित वोट पर किसका हक? विधानसभा चुनाव से पहले चंद्रशेखर ने मायावती को दिया यह ऑफर

चंद्रशेखर ने यह भी कहा कि उनमें इतनी क्षमता है कि वह यह काम आसानी से करवा सकते हैं। चंद्रशेखर ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश के 20 प्रतिशत पिछड़े दलित मतदाताओं में से 17 फ़ीसदी आबादी आजाद समाज पार्टी के साथ है। उन्होंने कहा कि मायावती ने मुझे सिरे से नकार दिया था।

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने है। ऐसे में सभी राजनीतिक दल अपने-अपने दांव पेंच को आजमाने की कोशिश में है। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर भी इस बार चुनावी प्रक्रिया में शामिल हो रहे हैं। आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद रावण इस चुनाव में ओवैसी और राजभर वाले गठबंधन में शामिल हो रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने एक बड़ा बयान दिया है। यह बयान बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती को लेकर है। चंद्रशेखर ने कहा कि विधानसभा चुनाव में मायावती उनका साथ दे तो 2024 के लोकसभा चुनाव में वह उन्हें भारत का प्रधानमंत्री बनवा देंगे। 

इसे भी पढ़ें: हिंसक घटनाओं को लेकर मायावती ने की सरकार की आलोचना, बोलीं- सख्त कदम उठाए जाने चाहिए

इसके साथ ही चंद्रशेखर ने यह भी कहा कि उनमें इतनी क्षमता है कि वह यह काम आसानी से करवा सकते हैं। चंद्रशेखर ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश के 20 प्रतिशत पिछड़े दलित मतदाताओं में से 17 फ़ीसदी आबादी आजाद समाज पार्टी के साथ है। उन्होंने कहा कि मायावती ने मुझे सिरे से नकार दिया था। उनकी पार्टी बसपा अपना काम कर रही है और हम अपना काम कर रहे हैं। इसके साथ ही चंद्रशेखर ने दावा किया कि कांशीराम की राजनीतिक विरासत को मायावती संभाल रही हैं जबकि मैं सैद्धांतिक विरासत को संभाल रहा हूं। उन्होंने कहा कि हमने तो कांशीराम के सभी सिद्धांतों का पालन किया है। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर पंजाब के युवक की हत्या अतिदुखद एवं शर्मनाक: मायावती

चंद्रशेखर ने मायावती पर तंज भरे लहजे में कहा कि वह अब सक्रिय राजनीति से रिटायर हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ दलितों का नहीं, देश के हर गरीब, दबे-कुचले, प्रताड़ित कर लेता हूं। हर गरीब अपने आप में चंद्रशेखर को देखता है। इसके साथ ही चंद्रशेखर ने कहा कि मैं ऐसे लोगों का दुख-सुख का साथी हूं और हमदर्द बनना भी चाहता हूं क्योंकि दूसरे नेता तो उन्हें सिर्फ धोखा देते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राजनीति में 90% लोग सिर्फ पद, पैसा और पावर को लेकर ही आते हैं जबकि हम लोग परिवर्तन की सोच के साथ सामने आए हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।