बच गई भूपेश बघेल की कुर्सी, राहुल गांधी ने स्वीकारा बस्तर आने का न्यौता, टीएस सिंह देव की नहीं होगी ताजपोशी !

Bhupesh Baghel
अनुराग गुप्ता । Aug 28, 2021 10:18AM
सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राहुल गांधी को मना लिया है और अब वह राज्य की सत्ता पर काबिज रहेंगे और अपना कार्यकाल भी पूरा करेंगे। वहीं, भूपेश बघेल ने राहुल गांधी को बस्तर का दौरा करने का निमंत्रण दिया था, जिसे राहुल गांधी ने स्वीकार कर लिया है।

नयी दिल्ली। छत्तीसगढ़ में जारी सियासी घमासान फिलहाल कम हो गया। राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। आपको बता दें कि पिछले चार दिनों में भूपेश बघेल की राहुल गांधी से यह दूसरी मुलाकात की। माना जा रहा है कि भूपेश बघेल एक बार फिर से राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा के बीच बघेल ने राहुल गांधी से मुलाकात की 

भूपेश ने राहुल को मनाया !

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राहुल गांधी को मना लिया है और अब वह राज्य की सत्ता पर काबिज रहेंगे और अपना कार्यकाल भी पूरा करेंगे। हालांकि आगामी विधानसभा चुनाव किसके नेतृत्व में लड़ा जाएगा, इस पर अभी कोई चर्चा नहीं हुई है।

राहुल बस्तर का करेंगे दौरा

भूपेश बघेल ने राहुल गांधी से दूसरी मुलाकात में अपने दिल की बात कह दी है और माना जा रहा है कि छत्तीसगढ़ का विवाद भी इसी के साथ समाप्त हो गया। लेकिन टीएस सिंह देव की आगे की क्या रणनीति रहती है, इस पर अभी कुछ भी कह पाना मुमकिन नहीं है।

बता दें कि भूपेश बघेल ने राहुल गांधी को बस्तर का दौरा करने का निमंत्रण दिया था, जिसे राहुल गांधी ने स्वीकार कर लिया है। माना जा रहा है कि अगले सप्ताह राहुल गांधी का छत्तीसगढ़ का दौरा करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: टीएस सिंह देव को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं राहुल गांधी ! क्या भूपेश बघेल की होगी विदाई ? 

साढ़े तीन घंटे चली बैठक

राहुल गांधी के आवास पर करीब साढ़े तीन घंटे तक चली बैठक में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और पीएल पुनिया मौजूद थे।इस बैठक के बाद भूपेश बघेल ने बताया कि सभी मुद्दों पर चर्चा हुई। छत्तीसगढ़ के कार्यक्रमों और योजनाओं के बारे में भी चर्चा हुई। मैंने अपने नेता से दिल की बात कह दी।

आलाकमान ने बनाया है मुख्यमंत्री 

नेतृत्व परिवर्तन से जुड़े सवाल पर भूपेश बघेल ने कहा कि जब प्रभारी ने बात कह दी, उसके बाद कुछ बाकी नहीं रह जाता है। मुख्यमंत्री आलाकमान ने बनाया है। जब तक आलाकमान चाहेगा तब तक रहूंगा।

गौरतलब है कि भूपेश बघेल के समर्थक करीब 60 विधायकों एवं पूर्व विधायकों ने कांग्रेस मुख्यालय में केसी वेणुगोपाल से मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि इन विधायकों ने भूपेश बघेल को मुख्यमंत्री बनाए रखने की पैरवी की। टीएस सिंह देव के साथ चल रही तनातनी के बीच इसे भूपेश बघेल के शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ कांग्रेस विवाद: फिर दिल्ली पहुंचेंगे बघेल, हाई कमान के साथ मुलाकात की संभावना 

ढाई-ढाई साल वाला फॉर्मूला फेल

इसी के साथ माना जा रहा है कि साल 2018 में तय किया गया ढाई-ढाई साल वाला फॉर्मूला फेल हो गया है और अब भूपेश बघेल ही मुख्यमंत्री बने रहेंगे। जबकि जानकारी मिल रही थी कि राहुल गांधी छत्तीसगढ़ में टीएस सिंह देव को मुख्यमंत्री के तौर पर देखना चाहते हैं।  

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़