मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कैथल को दी करोड़ों रुपये की सौगात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2022   07:14
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कैथल को दी करोड़ों रुपये की सौगात

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि गांव हाबड़ी में लगभग 4 एकड़ भूमि में कृत्रिम हॉकी मैदान बनाया है। इस स्थान पर 30 बच्चों के लिए हॉस्टल, किचन, मनोरंजन कक्ष, वातानुकूलित तथा चार दीवारी का निर्माण करवाया गया है। क्षेत्र के खिलाडिय़ों को इस मैदान में अभ्यास के लिए सुविधा मिलेगी, जिससे खेल के क्षेत्र में इस इलाके के खिलाड़ी अपने साथ-साथ जिला व प्रदेश का नाम रोशन करेंगे

चंडीगढ़ । मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कैथल को करोड़ों रुपये की सौगात देते हुए विभिन्न कार्यों का उदघाटन किया। मुख्यमंत्री ने हाबड़ी में 11 करोड़ 10 लाख 50 हजार रुपये से बने इंटरनेशनल साईज सिंथैटिक हॉकी फील्ड ऑफ ग्लोबल कैटेगिरी, 5 करोड़ 23 लाख रुपये की लागत से सेरधा में निर्मित तथा 5 करोड़ 7 लाख रुपये से निर्मित पाबसर के 33-33 केवी के सब स्टेशन के  अलावा 1 करोड़ 90 लाख रुपये की धनराशि से निर्मित कोविड-19 पोर्टेबल 100 बिस्तर के अस्पताल का उद्घाटन किया। यह पोर्टेबल अस्पताल नागरिक अस्पताल परिसर में स्थापित किया गया है। 33 केवी सब स्टेशनों के शुरू होने से गांव पाबसर, ककराला, कक्योर माजरा, कुच्चियां वाला, सेरधा, फरीबाद, मंडवाल, संतोख माजरा के लोगों को लाभ मिलेगा।

 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि गांव हाबड़ी में लगभग 4 एकड़ भूमि में कृत्रिम हॉकी मैदान बनाया है। इस स्थान पर 30 बच्चों के लिए हॉस्टल, किचन, मनोरंजन कक्ष, वातानुकूलित तथा चार दीवारी का निर्माण करवाया गया है। क्षेत्र के खिलाडिय़ों को इस मैदान में अभ्यास के लिए सुविधा मिलेगी, जिससे खेल के क्षेत्र में इस इलाके के खिलाड़ी अपने साथ-साथ जिला व प्रदेश का नाम रोशन करेंगे। जिला नागरिक अस्पताल में दि अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन ट्रस्ट के सहयोग से 100 बैड के पोर्टेबल अस्पताल  की स्थापना की गई है। इस पोर्टेबल अस्पताल में आमजन को कोविड-19 के मद्देनजर बेहतरीन स्वास्थ्य सेवाएं देने की व्यवस्था की गई है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।