मुख्यमंत्री ने अस्पताल से की कोरोना की समीक्षा कहा जागरूकता के लिये स्वयंसेवी संगठनों को जोड़े

मुख्यमंत्री ने अस्पताल से की कोरोना की समीक्षा कहा जागरूकता के लिये स्वयंसेवी संगठनों को जोड़े

शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को अपने उपचार के दौरान अस्पताल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा की। वीडियों कांन्फ्रेंसिंग से गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री प्रभुराम चौधरी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित कई प्रशासनिक अधिकारी जुड़े।

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना से बचाव के उपायों को अपनाने की जागरूकता के लिये स्वयंसेवी संगठनों और संस्थाओं को जोड़ें। इसके लिये आउट लाइन बनाये और शीघ्र ही उसका इम्पलीमेंटेशन भी करें। समाज के सहयोग से अभियान चलाकर कोरोना के प्रति जागरूकता लायी जा सकती है। इसके लिये अकेला सरकारी तंत्र काफी नहीं है। समाज के विभिन्न वर्गों के व्यक्तियों को इस अभियान से जोड़ा जाए, जिससे लोग इसकी गंभीरता को समझते हुए जगह-जगह संवाद कर जागरूकता के प्रयास करें। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग सहित सभी सुरक्षात्मक उपायों को अपनाने की समझाइश दें। चौहान ने कहा कि समाज के सहयोग से ही हम कोविड से जंग जीत सकेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को अपने उपचार के दौरान अस्पताल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा की। वीडियों कांन्फ्रेंसिंग से गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री प्रभुराम चौधरी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित कई प्रशासनिक अधिकारी जुड़े।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के कोरोना संक्रमित होने के बाद अब गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा सहित चार मंत्री संभालेंगे मोर्चा

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये ‍कि होम क्वारेंटाईन किए गए व्यक्तियों की ऑलओवर रिपोर्ट भी लें। कोविड की गाइड लाइन्स का पूर्णत: पालन सुनिश्चित करवायें। उन्होंने सभी मंत्रियों से भी कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के प्रति सजगता लाने के लिये समाज को जोड़ें। उन्होंने कहा कि जरूरत के समय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग आदि के माध्यम से भी कोरोना नियंत्रण के संबंध में मंत्रीगण अपने क्षेत्र की समस्या से अधिकारियों को अवगत करवा कर उसका निराकरण कराएं। उन्होनें कॉन्फ्रेंस के जरिये प्रदेश में कोरोना की स्थिति को लेकर समीक्षा कर प्रदेश के सभी जिलों की स्थिति की जानकारी ली। मेडिकल कॉलेज, कोविड केयर सेंटर, अस्पताल की केपेसिटी और उनमें उपचार की व्यवस्थाओं के संबंध में भी अधिकारियों से चर्चा की। चौहान ने कहा कि कोविड से जीतने के लिये लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि उनके संपर्क में आए मंत्री, विधायक और अधिकारी सहित अन्य सभी अपनी टेस्टिंग करवा लें। उन्होंने कहा कि उन्हें सभी की चिंता है। उनकी वजह से किसी को परेशानी नहीं हो। टेस्टिंग करवाकर सभी सुरक्षा उपाय अपनाएं, ताकि हम निश्चिंत हो जाएं। बताया गया कि उनके संपर्क में आये सभी व्यक्तियों को आइसोलेशन और होम क्वारेंटाईन होने की समझाइश दी गई है। वीडियों कांन्फ्रेसिंग में मुख्यमंत्री ने कर्मचारियों की वेतनवृद्धि और मेघावी विद्यार्थियों को लेपटॉप वितरण के संबंध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।