भारत की बढ़ती इंफ्रास्ट्रक्चर ताकत से चीन-पाकिस्तान परेशान, पहाड़ों को चीर कर सेना के लिए बना दिया रास्ता

भारत की बढ़ती इंफ्रास्ट्रक्चर ताकत से चीन-पाकिस्तान परेशान, पहाड़ों को चीर कर सेना के लिए बना दिया रास्ता

भारतीय सेना के इस कदम से पाकिस्तान की हर हरकत पर रखी जाएगी अब पैनी नजर और उसकी नापाक साजिशों को नाकाम किया जाएगा। भारत की तैयारियों की एक बड़ी वजह चीन की नापाक हरकतें हैं। भारतीय फौज भी पूरी तरह अलर्ट है।

चीन के साथ  पाकिस्तान को भी सीमा पर करारा जवाब मिलेगा। सीमाओं पर सेना की पहुंच बनाने का काम तेजी से जारी है। इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए बॉर्ड रोड ऑर्गनाइजेशन ने सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण लद्दाख व जम्मू कश्मीर में कई पुलों का निर्माण किया है। चीन और पाकिस्तान की सीमाओं से लगते 24 पुल और 3 सड़कें को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वर्चुअली माध्यम से देश को समर्पित किया है। ये सभी क्लास-70 श्रेणी के पुल हैं, जिन्हें सीमा सड़क संगठन ने भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया है। इन पर से सेना की तोपों को बड़े वाहनों से ले जाना संभव है।

 चीन-पाक के खिलाफ भारत का 'पुल'प्लान

 राज्य पुल
 लद्दाख 7
 हिमाचल 2
 उत्तराखंड 8
 सिक्किम 4
 अरुणाचल प्रदेश 8
 पंजाब- 4

इसे भी पढ़ें: एनएसयूआई कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बरसाई लाठी, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में कर रहे थे प्रदर्शन

10 बड़ी बातें

बॉर्डर पर 24 पुल और 3 सड़कों का किया उद्घाटन हुआ

24 में से 16 पुल चीन सीमा से सटे हैं

एक पुल पूर्वी सिक्किम में डोकलाम के नजदीक है

एक पुल पूर्वी लद्दाख की डीएसडीबीओ रोड पर बने हैं

डोकला रोड पर बना फ्लैग हिल 11 हजार फीट की ऊंचाई पर है

140 फीट डबल लेन वाला ये माड्युलर क्लास 70 ब्रिज है

ब्रिज को जीआरएसई कंपनी के साथ मिलकर तैयार किया गया है

70 टन भार उठा सकते हैं नए पुल

डोकलाम के पास झट से पहुंचेंगे टैंक

पाकिस्तान सीमा पर तैनात हुए 9 पुल

चीन-पाकिस्तान को मिलेगा करारा जवाब 

भारतीय सेना के इस कदम से पाकिस्तान की हर हरकत पर रखी जाएगी अब पैनी नजर और उसकी नापाक साजिशों को नाकाम किया जाएगा। भारत की तैयारियों की एक बड़ी वजह चीन की नापाक हरकतें हैं। वह बॉर्डर के करीब न सिर्फ इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार कर रहा है बल्कि अक्सर ऐसी खबरें आती रहती हैं कि वह युद्धाभ्यास के साथ ही सैनिकों की तैनाती भी बढ़ाता रहता है। भारतीय फौज भी पूरी तरह अलर्ट है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...