एनएसयूआई कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बरसाई लाठी, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में कर रहे थे प्रदर्शन

एनएसयूआई कार्यकर्ताओं पर  पुलिस ने बरसाई लाठी, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में कर रहे थे प्रदर्शन

बुधवार को एनएसयूआई के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने प्रदर्शन किया। छात्र-छत्राएं मांग कर रहे थे कि कोरोना के नए वेरिएंट को देखते हुए परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से आयोजित की जाए। ये भी बताया जा रहा है कि छात्र-छात्राओं का यह प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा था।

भोपाल। राजधानी भोपाल में ऑनलाइन परीक्षा की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस का कहर बरसा है। बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी में पुलिस ने छात्रों को पीटा पिटाई।कई छात्रों को पुलिस यूनिवर्सिटी कैंपस से उठाकर भी ले गई है।

दरअसल बुधवार को एनएसयूआई के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने प्रदर्शन किया। छात्र-छत्राएं मांग कर रहे थे कि कोरोना के नए वेरिएंट को देखते हुए परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से आयोजित की जाए। ये भी बताया जा रहा है कि छात्र-छात्राओं का यह प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा था। 

वहीं विश्वविद्यालय के कुलपति आएं और उनसे बात कर उनकी मांगों पर विचार करें। विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ आरजे राव छात्रों से जब बात करने आए तो उन्होंने आश्वासन दिया कि 15 मिनट के भीतर परीक्षा निरस्त करने संबंधी आदेश जारी कर आपको भिजवा रहा हूं। आदेश की कॉपी से पहले काफी संख्या में पुलिस पहुंच गई। 

इसे भी पढ़ें:कुत्ते और इंसान की गजब प्रेम कहानी,मालिक ने कुत्ते के साथ लगा ली फांसी 

आपको बता दें कि पुलिस ने छात्रों को समझाने की कोशिश की। लेकिन संगठन के छात्र नही माने तब पुलिस ने यहां लाठीचार्ज करना शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस करीब 9 छात्रों को कैंपस से उठा ले गई।

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने एनएसयूआई मेडिकल विंग के समन्वयक रवि परमार, छात्र नेता अक्षय तोमर व सोहन मेवाड़ा के साथ अन्य छात्रों को बागसेवनिया लेकर आई है।

इस मुद्दे पर यूथ कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी दर्जनों युवाओं के साथ बाग सेवनिया थाने पहुंचे हैं। त्रिपाठी छात्रों से मुलाकात करने पर अड़े हुए हैं जबकि पुलिस उन्हें अंदर नहीं जाने दे रही है। विवेक त्रिपाठी ने चेतावनी दिया है कि 1 घंटे के भीतर यदि सभी छात्रों को नहीं छोड़ा गया तो सैंकड़ों यूथ कांग्रेस थाने के बाहर धरना देगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...