सीएम हेल्पलाइन ही मांग रही है हेल्प ,तो जनता कहां जाये बतायें मुख्यमंत्री - भूपेंद्र गुप्ता

CM helpline is asking for help
दिनेश शुक्ल । Feb 18, 2021 9:59PM
गुप्ता ने कहा कि मध्य प्रदेश का पूरा प्रशासन इस वक्त फर्जी आंकड़ों की खेती करने में लगा हुआ है। बढ़ा-चढ़ा कर पेश किए गए आंकड़ों से कर्ज लेकर घी पीने वाली सरकार खुद अपनी पीठ ठोक रही है।
भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने जन शिकायतों के निराकरण को लेकर शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने राज्य प्रशासन के उदासीन रवैया की कटु आलोचना करते हुए कहा है कि मध्य प्रदेश सरकार की सीएम हेल्पलाइन सेवा ही आज हेल्प की मोहताज हो गई है। भूपेन्द्र गुप्ता ने बताया कि जानकारी सामने आई है कि लगभग 82 अधिकारियों ने विगत कई महीनों से सीएम हेल्पलाइन लॉगिन ही नहीं की है । यह जानकारी शासन के संज्ञान में लाई गयी है। गुप्ता ने कहा कि जब पोर्टल पर अधिकारी जाएगा ही नहीं तो समस्याओं का निराकरण कैसे होगा ? लाखों समस्यायें लंबित हैं और अधिकारी शिकायतों के निवारण की झूठी निराकरण रिपोर्ट पोर्टल पर दर्ज करा रहे हैं ।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कानून का राज है या तालिबान का, आदिवासी विधायक का अपमान कांग्रेस नहीं सहेगी - जीतू पटवारी

गुप्ता ने कहा कि मध्य प्रदेश का पूरा प्रशासन इस वक्त फर्जी आंकड़ों की खेती करने में लगा हुआ है। बढ़ा-चढ़ा कर पेश किए गए आंकड़ों से कर्ज लेकर घी पीने वाली सरकार खुद अपनी पीठ ठोक रही है। गुप्ता ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि कम से कम ऐसे अधिकारियों को बर्खास्त करने की हिम्मत दिखाएं जो सीएम हेल्पलाइन का पोर्टल भी लॉगिन नहीं करते हैं। वाह वाही लूटने के लिये लोक सेवा गारंटी कानून तो बना दिया गया है किन्तु उसे लागू करवाने की इच्छा शक्ति इस सरकार में नहीं हैं।सरकार के मंत्री अपने विभाग की सेवायें सुधारने की बजाय मुख्यमंत्री से बराबरी करते हुये राजनीतिक भोज देने में लगे हैं। हास्यास्पद यह है कि दुर्घटना सीधी जिले में हुई है और मंत्री भोपाल में बसों के गेट चेक कर रहे हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़