कोयला चोरी का वीडियो वायरल: धरमलाल कौशिक बोले- बयां कर रही गैंग्स ऑफ वासेपुर की कहानी

dharamlal
Twitter
प्रदेश से पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, उड़ीसा सहित कई राज्यों में अवैध कोयला का परिवहन राज्य से किया जा रहा है और इस तरह से छोटे-छोटे समूह में अवैध खुदाई कर छोटे तस्कर कोयले की बड़े तस्करों तक ले जाते है जिन तक किसी की पहुंच नहीं होती है जिसके कारण कोयले की अवैध उत्खनन जारी है।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कोरबा के दीपका थाना क्षेत्र में एक साथ हो रहे कोयला चोरी की वायरल वीडियो पर कहा कि इस पूरे मामले की प्रदेश सरकार को सीबीआई से जांच करानी चाहिए ताकि इस पूरे मामले से पर्दा उठ सके। जिस तरह से हजारों की संख्या में लोग कोयला का अवैध उत्खनन करते दिख रहे है इससे स्पष्ट है कि कोयला चोरी को लेकर अंतर्राज्यीय गिरोह काम कर रहे है जो छत्तीसगढ़ से कोयला की अवैध तरीके से परिवहन कर रहे है जिसे कई राज्यों में ले जाकर मंहगे दाम पर बेचा जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: यहां किसी को घेरने नहीं आए, कुर्सी हमारा लक्ष्य नहीं: जयपुर में गरजे जेपी नड्डा

उन्होंने कहा कि इससे राजस्व की भारी हानि भी हो रही है। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले को देखकर लगता है कि गैंग्स ऑफ वासेपुर फिल्म का पूरा दृश्य इन खदानों में देखा जा सकता है। इस पूरे मामले की जांच को लेकर प्रदेश सरकार जरा भी गंभीर नहीं है क्यों प्रदेश सरकार के संरक्षण में ही कोयले की चोरी हो रही है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि इस पूरे मामले में पुलिस के आला अधिकारियों द्वारा केवल औपचारिकता के नाम पर जांच का आदेश दिए गए हैं जमीनी हालत कुछ और ही है। 

इसे भी पढ़ें: सुनील जाखड़ की चुगलखोरों वाली टिप्पणी पर बरसे दिग्विजय सिंह, RSS पर भी साधा निशाना

प्रदेश से पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, उड़ीसा सहित कई राज्यों में अवैध कोयला का परिवहन राज्य से किया जा रहा है और इस तरह से छोटे-छोटे समूह में अवैध खुदाई कर छोटे तस्कर कोयले की बड़े तस्करों तक ले जाते है जिन तक किसी की पहुंच नहीं होती है जिसके कारण कोयले की अवैध उत्खनन जारी है। इससे स्पष्ट होता है कि इन इलाकों में रोजगार को लेकर प्रदेश सरकार की ओर से समुचित व्यवस्था नहीं है इसलिए गांवों के लोग कोयले की तस्करी कर जीवन जीने को विवश है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़