दिल्ली में नए साल तक शीत लहर चलने का पूर्वानुमान, तापमान में भी आ सकती है गिरावट

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 28, 2020   14:24
दिल्ली में नए साल तक शीत लहर चलने का पूर्वानुमान, तापमान में भी आ सकती है गिरावट

आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ से जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में ‘‘छिट-पूट से लेकर अच्छी खासी’’ बर्फबारी हो सकती है।

नयी दिल्ली। हिमालय से ठंडी हवाओं के मैदानी इलाकों की ओर बढ़ने के कारण दिल्ली में अगले चार दिनों तक शीत लहर चलने का पूर्वानुमान है। मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तामपान 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रविवार को तामपान छह डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि नए साल की पूर्व संध्या पर तापमान तीन डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ से जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में ‘‘छिट-पूट से लेकर अच्छी खासी’’ बर्फबारी हो सकती है।

उन्होंने बताया कि पश्चिमी हिमालय से चलने वाली ठंडी तथा शुष्क उत्तरी/उत्तरी पश्चिमी हवाओं के कारण उत्तर भारत में तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ सकती है। आईएमडी ने कहा, ‘‘ पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान के कुछ इलाकों में शीत लहर चल सकती है। क्षेत्र में कुछ स्थानों पर जमा देने वाली ठंड होने और घना कोहरा छाने का भी पूर्वानुमान है।’’ अधिकारियों ने बताया कि मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या इससे कम और सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस कम रहता है, तो आईएमडी शीतलहर की घोषणा कर देता है। दिल्ली में पिछले रविवार को न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम में अभी तक का सबसे कम तापमान है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।