असम में 100 आने के अमित शाह के दावे पर कांग्रेस नेता भूपेश बघेल का कटाक्ष

 Baghel
असम की 126 सदस्यीय विधानसभा के लिए होने जा रहे चुनाव में भाजपा के 100 से ज्यादा सीटें जीतने के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के लक्ष्य पर कांग्रेस नेता भूपेश बघेल ने कहा है कि शाह छत्तीसगढ़ का उदाहरण दोहराना चाहते हैं, जहां उनका ‘मिशन 65 प्लस’ प्रतिद्वंद्वी दल के लिए सच साबित हुआ था।

गुवाहाटी। असम की 126 सदस्यीय विधानसभा के लिए होने जा रहे चुनाव में भाजपा के 100 से ज्यादा सीटें जीतने के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के लक्ष्य पर कांग्रेस नेता भूपेश बघेल ने कहा है कि शाह छत्तीसगढ़ का उदाहरण दोहराना चाहते हैं, जहां उनका ‘मिशन 65 प्लस’ प्रतिद्वंद्वी दल के लिए सच साबित हुआ था। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस नीत महागठबंधन आगामी असम विधानसभा चुनाव में तीन-चौथाई बहुमत हासिल करेगी क्योंकि लोग परिवर्तन चाहते हैं और राज्य की मौजूदा भाजपा सरकार को बदलने को इच्छुक हैं।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी के बयान पर आनंद शर्मा की सफाई, कहा- कांग्रेस ने देश को हमेशा एक समझा है

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले बघेल को अखिल भारतीय कांग्रेस समिति ने असम में मार्च-अप्रैल में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश इकाई के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। बघेल ने कहा, ‘‘अमित शाह छत्तीसगढ़ गये थे और कहा 65 से अधिक सीट जीतने का लक्ष्य निर्धारित किया था। मैंने तब कहा था कि वह ‘65 प्लस’ हमारे लिए कह रहे हैं। चुनाव परिणाम आया और हमने 68 सीटों पर जीत दर्ज की, जो अब 70 हो गई है। ’’

इसे भी पढ़ें: भाजपा लोगों को उत्तर-दक्षिण के विभाजन का ‘टूलकिट’ थमा रही है : कांग्रेस

बघेल ने पीटीआई-से एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘इसतरह, अमित शाह असम में भी हमारी ही बात कर रहे हैं, जहां हम 100 से अधिक सीटों पर जीत हासिल करेंगे।’’ भाजपा ने 2018 के छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में अपने ‘मिशन 65 प्लस’ के तहत 65 से अधिक सीटों पर जीत का लक्ष्य निर्धारित किया था, लेकिन दिलचस्प है कि कांग्रेस ने 90 सदस्यीय विधानसभा में 68 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

असम में चुनावी परिदृश्य के बारे में बात करते हुए बघेल ने कहा, ‘‘लोग परिवर्तन चाहते हैं क्योंकि वे सरकार के कामकाज से खुश नहीं हैं। जो वादे किये गये थे, वे पूरे नहीं किये गये। भाजपा ने सपने दिखाए, जो साकार नहीं हुए। लोग ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘असम में अगली सरकार महागठबंधन की बनने जा रही है। हम तीन-चौथाई बहुमत से सरकार बनाएंगे।’’ गौरतलब है कि 2001 से 15 साल तक कांग्रेस राज्य में सत्ता में रही थी। कांग्रेस ने आगामी विधानसभा चुनाव में भजपा नीत राजग का मुकाबला करने के लिए एआईयूडीएफ, भाकपा, माकपा, भाकपा (एमएल)और आंचलिक गण मोर्चा(एजीएम) के साथ एक महागठबंधन बनाया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़