कांग्रेस में महत्वाकांक्षा की लड़ाई, राहुल गांधी की नाकामी छुपाने में जुटे नेता: संबित पात्रा

कांग्रेस में महत्वाकांक्षा की लड़ाई, राहुल गांधी की नाकामी छुपाने में जुटे नेता: संबित पात्रा

राहुल पर निशाना साधते हुए संबित पात्रा ने आगे कहा कि इन सारे विषयों में एक बात सामने आती है और वह यह है कि राहुल गांधी की असाधारण असफलता और उनकी इस असफलता को छिपाने के लिए कांग्रेस ने जिस प्रकार से पत्रकारिता और पत्रकारों पर हमला करना शुरू किया है, यह दुःखद, सोचनीय और चिंताजनक है।

पंजाब में जारी उथल-पुथल को लेकर भाजपा की ओर से कांग्रेस पर आज जबरदस्त तरीके से निशाना साधा गया है। भाजपा ने पंजाब की राजनीतिक स्थिति को चिंताजनक करार देते हुए राहुल गांधी पर जबरदस्त हमला किया है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि हम सभी ये देख रहे हैं कि पंजाब में किस प्रकार की स्थिति है। जो राजनीतिक सरगर्मियां वहां चल रही हैं, वो वास्तविक रूप में चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि क्योंकि पंजाब एक बॉर्डर का राज्य है और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए पंजाब में स्थिरता रहना बहुत अनिवार्य और महत्वपूर्ण है। उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि जिस तरह से कांग्रेस की राजनीति है उसमें अस्थिरता साफ तौर पर दिखाई दे रही है। आज अस्थिरता कांग्रेस पार्टी का पर्यायवाची शब्द बन चुका है।

राहुल पर निशाना साधते हुए संबित पात्रा ने आगे कहा कि इन सारे विषयों में एक बात सामने आती है और वह यह है कि राहुल गांधी की असाधारण असफलता और उनकी इस असफलता को छिपाने के लिए  कांग्रेस ने जिस प्रकार से पत्रकारिता और पत्रकारों पर हमला करना शुरू किया है, यह दुःखद, सोचनीय और चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी यह सोच रहे थे कि वह पंजाब में समस्या का हल कर चुके हैं और इसलिए वह छुट्टी मनाने चले गए थे। लेकिन जिस तरीके से नवजोत सिंह सिद्धू और चरणजीत सिंह चन्नी के बीच जो सिर फुटव्वल हुआ है वह आज देश से छुपा नहीं है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस में महत्वाकांक्षा की लड़ाई है। उन्होंने आरोप लगाया कि कोई भी नेता पंजाब के बारे में नहीं सोच रहा वे सभी अपने अपने बारे में ही सोच रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: दुर्भाग्य है कांग्रेस के पास कोई अध्यक्ष नहीं, सिब्बल बोले- लोग छोड़कर जा रहे हैं पार्टी, CWC बैठक जल्द बुलाई जाए

पात्रा ने भूपेश बघेल पर भी हमला किया और कहा कि फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन की दुहाई देने वाले आज धमकाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि किसी महिला पत्रकार के घर धावा बोल देना, किसी पत्रकारिता संस्थान के धावा बोल देना, क्या यह फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन है? उन्होंने साफ तौर पर कहा कि अगर किसी ने हिंदुस्तान की राजनीति में सबसे ज्यादा गाली गलौज वाली पॉलिटिक्स की है तो वह नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस ने की है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि राहुल गांधी ने खुद कहा था कि प्रधानमंत्री को डंडे से मारा जाएगा। मैं आज NBA और एडीटर्स गिल्ड से भी ये निवेदन करना चाहूंगा कि एक महिला पत्रकार पर हमला करना और उनको धमकी देना उचित नहीं है। इस पर सवाल उठना अनिवार्य है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...