ईंधन के बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस विधायक साइकिलों से पहुंचे विधानसभा, बोले- CM को भी करनी चाहिए सवारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 22, 2021   16:13
ईंधन के बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस विधायक साइकिलों से पहुंचे विधानसभा, बोले- CM को भी करनी चाहिए सवारी

कांग्रेस विधायकों पीसी शर्मा, जीतू पटवारी, कुणाल चौधरी, शशांक भार्गव और आरिफ मसूद ईंधन की बढ़ती कीमतों के विरोध में भोपाल के व्यापमं चौराहे से विधानसभा परिसर तक साइकिल चलाकर पहुंचे।

भोपाल। देश में ईंधन की बढ़ती कीमतों के विरोध में विपक्षी दल कांग्रेस के विधायक सोमवार को साइकिलों पर सवार होकर मध्यप्रदेश विधानसभा परिसर पहुंचे। विधानसभा का बजट सत्र सोमवार से शुरु हुआ है। कांग्रेस विधायकों पीसी शर्मा, जीतू पटवारी, कुणाल चौधरी, शशांक भार्गव और आरिफ मसूद ईंधन की बढ़ती कीमतों के विरोध में भोपाल के व्यापमं चौराहे से विधानसभा परिसर तक साइकिल चलाकर पहुंचे। प्रदेश के पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक शर्मा ने पत्रकारों से कहा कि पिछली संप्रग सरकार के कार्यकाल में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें वर्तमान दरों से लगभग दोगुनी थीं लेकिन उस समय देश में पेट्रोल, डीजल और रसाई गैस की कीमतें कम थीं। भोपाल दक्षिण-पश्चिम विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक शर्मा ने कहा, ‘‘अब जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें कम हैं, तो भी देश में ईंधन बहुत अधिक दर पर बेचा जा रहा है।’’ 

इसे भी पढ़ें: इंदौर के एक अस्पताल में लिफ्ट गिरी, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित लिफ्ट में मौजूद थे पूर्व मंत्री व कांग्रेस नेता 

उन्होंने ईंधन की कीमतों में कमी करने की मांग करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी अब साइकिल की सवारी करनी चाहिये। गौरतलब है कि संप्रग सरकार के दौरान मुख्यमंत्री चौहान ने ईंधन की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ साइकिल की सवारी कर अपना विरोध दर्ज करवाया था। इस बीच, मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने दावा किया कि प्रदेश में पिछली कांग्रेस सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट बढ़ाया था। भाजपा नेता ने सोमवार को यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘कांग्रेस विधायकों ने केवल मीडिया का ध्यान खींचने के लिये यह नाटक किया है। यदि उनका विरोध प्रदर्शन वास्तविक है तो उन्हें हर दिन साइकिल का इस्तेमाल करना चाहिये।’’ मध्यप्रदेश विधानसभा का बजट सत्र 26 मार्च तक निर्धारित है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।