उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस ने जारी की 11 उम्मीदवारों की सूची, हरीश रावत को रामनगर से तो अनुकृति को लैंसडाउन से मैदान में उतारा

उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस ने जारी की 11 उम्मीदवारों की सूची, हरीश रावत को रामनगर से तो अनुकृति को लैंसडाउन से मैदान में उतारा
प्रतिरूप फोटो

कांग्रेस ने उत्तराखंड के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए 11 उम्मीदवारों की सूची जारी की। हरीश रावत रामनगर से और हरक सिंह रावत की बहू अनुकृति गुसाईं रावत लैंसडाउन से चुनाव लड़ेंगी। कांग्रेस ने ट्वीट में लिखा कि देवभूमि उत्तराखंड की सेवा करने के लिए पार्टी द्वारा विधानसभा चुनाव 2022 के लिए घोषित प्रत्याशियों को हार्दिक शुभकामनाएं।

देहरादून। उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की। इस सूची में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, भाजपा से कांग्रेस में आए हरक सिंह रावत की बहू अनुकृति गुसाईं रावत समेत 11 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं। आपको बता दें कि कांग्रेस ने हरीश रावत को रामनगर से और अनुकृति गुसाईं रावत को लैंसडाउन से चुनावी मैदान में उतारा है। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस का बड़ा ऐलान, उत्तराखंड में सरकार बनने पर पूरे करेंगे 4 वादे, गैस के दाम नहीं होंगे 500 के पार

कांग्रेस की उत्तराखंड इकाई ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। पार्टी ने ट्वीट में लिखा कि देवभूमि उत्तराखंड की सेवा करने के लिए पार्टी द्वारा विधानसभा चुनाव 2022 के लिए घोषित प्रत्याशियों को हार्दिक शुभकामनाएं। कांग्रेस का आना हुआ तय, अब उत्तराखंड में जनता की होगी विजय।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड में युवा वोटर्स को लुभाने में जुटी पार्टियां, बेरोजगारी को देखते हुए नौकरी देने का कर रहीं वादा

इससे पहले कांग्रेस ने 53 उम्मीदवारों के नाम जारी किए थे। जिसमें 18 सीटों पर पार्टी ने नए उम्मीदवारों पर दांव लगाया है। इतना ही नहीं पिछला चुनाव लड़ने वाले कुछ उम्मीदवारों का पत्ता भी साफ हुआ है। सूची के मुताबिक, प्रदेशाध्यक्ष गणेश गोदियाल को पौड़ी गढ़वाल जिले की श्रीनगर सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। वह पहले भी इस विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। जबकि प्रीतम सिंह को उनकी वर्तमान सीट चकराता से ही उम्मीदवार बनाया गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।