कांग्रेस प्रवक्ता नूरी खान की अगस्त क्रांति पदयात्रा हुई समाप्त, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दी बधाई

Nori khan
सुयश भट्ट । Aug 26, 2021 3:25PM
कांग्रेस की अगस्त क्रांति पदयात्रा भोपाल पहुंचने पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, विधायक कुणाल चौधरी, पूर्व मंत्री सुरेश पचौरी समेत कई कांग्रेस नेता शामिल हुए। जहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यात्रा का स्वागत किया।
भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता नूरी खान की 15 अगस्त से बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन से निकाली गई अगस्त क्रांति पदयात्रा आज भोपाल पहुंची। नूरी खान की यात्रा भोपाल के कांग्रेस कार्यालय पहुंची। जहां वरिष्ठ नेताओं समेत कार्यकर्ताओं ने यात्रा का स्वागत किया।

इसे भी पढ़ें:CM शिवराज पर कमलनाथ का तंज, कहा- मुंबई जाइए, कलाकारी करिए, प्रदेश का नाम रोशन करिए 

आपको बता दें कि कांग्रेस की अगस्त क्रांति पदयात्रा भोपाल पहुंचने पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, विधायक कुणाल चौधरी, पूर्व मंत्री सुरेश पचौरी समेत कई कांग्रेस नेता शामिल हुए। जहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यात्रा का स्वागत किया। कमलनाथ ने यात्रा के समापन पर सभा को संबोधति करते हुए पदयात्रा के लिए नूरी खान को बधाई दी और कहा कि पूरे प्रदेश में एक संदेश गया है।

कमलनाथ ने आगे कहा कि बीजेपी किसी एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का नाम लेकर बताएं जो आजादी के आंदोलन में शामिल हुआ हो। नाम नहीं ले पाएंगे, लेकिन आज हमें राष्ट्रभक्त का पाठ पढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस यात्रा का संदेश देश की संस्कृति को बचाना है।

इसे भी पढ़ें:कमलनाथ ने लिए मिर्ची बाबा ने रखी विशेष पूजा, पूजा में लोटा गिरने पर बीजेपी ने कसा तंज 

कमलनाथ ने आगे कहा कि आज हमारे देश की संस्कृति पर आक्रमण हो रहा है। बीजेपी विभाजन की राजनीति कर रही है। सबका अलग पहनावा था, लेकिन संस्कृति एक थी। महंगाई बढ़ रही है पेट्रोल 200 लीटर चला जाएगा तब भी भाजपा कहेगी महंगाई नहीं है। उन्होंने कहा कि आज का नौजवान रोजगार चाहता है लेकिन युवाओं को रोजगार नहीं दे रहे।

दरअसल प्रवक्ता नूरी खान ने 15 अगस्त को बाबा महाकाल नगरी उज्जैन से निकली कांग्रेस की अगस्त क्रांति पदयात्रा आज प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में समाप्त हुई। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम, रसोई गैस के बड़े दामों को लेकर कांग्रेस ने उज्जैन से यह यात्रा शुरू की थी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़