देख रहा है बिनोद... शिवराज ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा- अब तिरंगे पर भी कर रहे हैं राजनीति

BJP Shivraj Singh Chouhan
ANI Image
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक ट्वीट में लिखा कि देख रहा है बिनोद… ये कांग्रेसी अब तिरंगे पर भी राजनीति कर रहे है! दरअसल, पंचायत वेब सीरीज के देख रहा है बिनोद डायलॉग काफी लोकप्रिय है और इसके मीम्स खासा शेयर किए जा रहे हैं। सोशल मीडिया इन दिनों देख रहा है बिनोद मीम्स से भरा पड़ा है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को पंचायत वेब सीरीज के बेहद की लोकप्रिय एक डायलॉग 'देख रहा है बिनोद' के जरिए विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर तंज कसा। आपको बता दें कि भाजपा ने हर घर तिरंगा अभियान को मजबूती देने के लिए राजनीतिक दलों और आम जनता से अपने घरों पर तिरंगा लगाने की अपील की है। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सोशल मीडिया की डीपी पर तिरंगा लगाने के अपील की।

इसे भी पढ़ें: 'हर घर तिरंगा के प्रति फैलाएं जागरुकता', CM शिवराज बोले- गांवों में निकालें प्रभात फेरियां, महापुरुषों की प्रतिमा को करें साफ 

मुख्यमंत्री चौहान ने एक ट्वीट में लिखा कि देख रहा है बिनोद… ये कांग्रेसी अब तिरंगे पर भी राजनीति कर रहे है! दरअसल, पंचायत वेब सीरीज के देख रहा है बिनोद डायलॉग काफी लोकप्रिय है और इसके मीम्स खासा शेयर किए जा रहे हैं। सोशल मीडिया इन दिनों देख रहा है बिनोद मीम्स से भरा पड़ा है।

हर घर तिरंगा के प्रति फैलाएं जागरूकता

इससे पहले मुख्यमंत्री चौहान ने कहा था कि शहर शहर, गांव गांव लोग तिरंगा यात्रा निकालकर अपने राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्र के प्रति सम्मान व्यक्त कर रहे हैं। आप भी अपने गांव में हर घर तिरंगा के प्रति जागरुकता फैलाएं।

इसे भी पढ़ें: MP को मामा 'Heart of India' से बनाना चाहते हैं 'Lungs of India', बोले- हमारी जरा सी लापरवाही के कारण बिजली होती है व्यर्थ 

उन्होंने कहा था कि उत्साहित नौजवान साइकिल रैली निकाल सकते हैं। शहीद और क्रांतिकारियों के गांवों तक, एक गांव से दूसरे गांव तक साइकिल और मोटर साइकिल रैली निकाल सकते हैं। महापुरुषों की प्रतिमा की और आस-पास के स्थलों की अपने हाथों से सफाई करें। उन्होंने इस देश के बलिदान दिया है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़