कोरोना संकट से निपटने के लिए लोक सभा अध्यक्ष की पहल पर नियंत्रण कक्ष स्थापित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   17:12
कोरोना संकट से निपटने के लिए लोक सभा अध्यक्ष की पहल पर नियंत्रण कक्ष स्थापित

बातचीत के दौरान बिरला ने सभी राज्य विधानमंडलों से अनुरोध किया था कि वे विभिन्न राज्य विधानमंडलों और संसद के बीच जानकारी के रियल टाइम आदान प्रदान के लिए एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना करें जिससे सांसदों /विधायकों/विधान परिषद के सदस्यों को कोविड 19 से उत्पन्न स्थिति का मुक़ाबला करने के लिए अपने कर्तव्य अधिक प्रभावी ढंग से निभाने में मदद मिले।

नई दिल्ली। 21 अप्रैल, 2020 को राज्य विधानमंडलों के पीठासीन अधिकारियों के साथ हुई वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर लिए गए निर्णय के अनुसार लोक सभा सचिवालय में तत्काल प्रभाव से एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका उद्देश्य कोविड-19 का मुक़ाबला करने के लिए तुरंत सहायता पहुंचाने के लिए सांसदों, विधायकों और आम जनता के बीच शीघ्र संपर्क स्थापित करने में मदद करना है। 

इसे भी पढ़ें: जानिए ट्रंप के Green Card पर रोक लगाने से किन लोगों पर पड़ेगा इसका असर

स्मरण रहे कि बिरला की पीठासीन अधिकारियों के साथ हुई उक्त वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कोरोना महामारी से उत्पन्न हुई स्थिति के बारे में विस्तार से चर्चा हुई थी। इस महामारी के दौरान आम जनता को राहत पहुंचाने के लिए देश में सांसदों और विधायकों/विधान परिषद के सदस्यों की भूमिका और प्रयासों का उल्लेख करते हुए बिरला ने इस बात पर ज़ोर दिया था कि संसद और राज्य विधानमंडल कार्यपालिका के साथ खड़े हैं तथा सांसद और विधायक/विधान सभा परिषद के सदस्य इस महामारी को फैलने से रोकने के राष्ट्रीय प्रयासों में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: गली-मोहल्लों में परचून, कपड़े, मोबाइल-फोन, हार्डवेयर की खुलेंगी दुकानें, बड़े बाजार, माल बंद रहेंगे

बातचीत के दौरान बिरला ने सभी राज्य विधानमंडलों से अनुरोध किया था कि वे विभिन्न राज्य विधानमंडलों और संसद के बीच जानकारी के रियल टाइम आदान प्रदान के लिए एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना करें जिससे सांसदों /विधायकों/विधान परिषद के सदस्यों को कोविड 19 से उत्पन्न स्थिति का मुक़ाबला करने के लिए अपने कर्तव्य अधिक प्रभावी ढंग से निभाने में मदद मिले। उक्त निर्णय के अनुसार संसद भवन में तत्काल प्रभाव से एक नियंत्रण कक्ष ने कार्य करना शुरू कर दिया है। राजस्थान, हरियाणा, ओडिशा, दिल्ली, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश राज्य विधानमंडलों ने अपने-अपने विधानमंडल सचिवालयों में सबसे पहले नियंत्रण कक्ष स्थापित किये हैं जिन्होने कार्य करना शुरू कर दिया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।