महिला कांग्रेस की नवगठित कार्यकारिणी को लेकर शुरू हुआ विवाद, नियुक्ति पत्र बांटने पर लगाई रोक

Mahila congress mp
सुयश भट्ट । Jan 31, 2022 6:02PM
उज्जैन में महिला कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष नूरी खान ने कुछ नामों को लेकर महिला कांग्रेस के अध्यक्ष अर्चना जायसवाल के सामने आपत्ति जताई है। विवाद बढ़ने के बाद महिला कांग्रेस के अध्यक्ष अर्चना जायसवाल ने नवनियुक्त पदाधिकारियों को 10 दिन तक नियुक्ति पत्र नहीं बांटने का फैसला लिया है।

भोपाल। मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस की नवगठित कार्यकारिणी को लेकर शुरू हुआ विवाद शुरू हो गया है। महिला कांग्रेस की नवगठित कार्यकारिणी को लेकर ग्वालियर और उज्जैन मे सबसे ज्यादा झगड़ा देखने को मिल रहा है। जिसके कारण प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष अर्चना जायसवाल  ने नवनियुक्त पदाधिकारियों को अगले 10 दिन तक नियुक्ति पत्र नहीं बांटने का निर्णय लिया है। 

जानाकारी के मुताबिक नवनियुक्त ग्वालियर जिला महिला कांग्रेस की अध्यक्ष रुचि गुप्ता और रश्मि पवार के बीच सबसे ज्यादा विवाद देखने को मिल रहा है। रुचि गुप्ता को रश्मि पवार पद देने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं हैं। दरअसल महिला कांग्रेस के अध्यक्ष अर्चना जायसवाल ने रुचि गुप्ता को ग्वालियर जिला महिला कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया है।

इसे भी पढ़ें:MP में ऑफलाइन होंगे 10वीं-12वीं के एग्जाम, तरीखों में दिख सकता है बदलाव 

वहीं उज्जैन में महिला कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष नूरी खान ने कुछ नामों को लेकर महिला कांग्रेस के अध्यक्ष अर्चना जायसवाल के सामने आपत्ति जताई है। विवाद बढ़ने के बाद महिला कांग्रेस के अध्यक्ष अर्चना जायसवाल ने नवनियुक्त पदाधिकारियों को 10 दिन तक  नियुक्ति पत्र नहीं बांटने का फैसला लिया है।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस की शनिवार को प्रदेश कार्यकारिणी गठित हुई। इसमें उपाध्यक्ष, महामंत्री, सचिव, सात सह सचिव और कार्यकारिणी सदस्य बनाए गए। वहीं पहली बार सह सचिव का पद बनाया गया है। इंदौर, जबलपुर सहित अन्य जिला इकाई में अध्यक्ष की नियुक्ति की  गई।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़