UP में कोरोना संक्रमण की तादाद 43 हजार के पार, अब तक 1046 मरीजों ने तोड़ा दम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 16, 2020   17:18
UP में कोरोना संक्रमण की तादाद 43 हजार के पार, अब तक 1046 मरीजों ने तोड़ा दम

अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में बुधवार को कुल 48,086 नमूनों की जांच की गयी। इस प्रकार अब तक 13,25,327 नमूनों की जांच की जा चुकी है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 2061 नये मामले सामने आये जबकि 34 और मरीजों की मौत होने के साथ ही बृहस्पतिवार को मृतक संख्या बढ़कर 1046 हो गई। अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 2061 नये मामले सामने आये। राज्य में संक्रमण के कुल 43,444 मामले हैं जबकि 34 और मौतों के साथ मृतक संख्या बढ़कर 1046 हो गई है। प्रसाद ने बताया कि 26,675 लोग पूर्णतया ठीक होकर अस्पताल से छुटटी पा चुके हैं जबकि राज्य में उपचाराधीन मामलों की संख्या 15,723 है। 

इसे भी पढ़ें: झूठ और अफवाहों के बल पर कब तक सियासत करेंगे तेजस्वी: राजीव रंजन 

उन्होंने बताया कि पृथक वार्ड (आइसोलेशन वार्ड) में 15,723 लोगों को रखा गया है, जिनका चिकित्सा विभाग द्वारा संचालित अस्पताल, कोविड केयर सेंटर या फिर मेडिकल कालेज अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। कुल 4123 लोगों को पृथकवास केन्द्रों (फेसिलिटी क्वारंटीन) में रखा गया है। उनके नमूने लेकर जांच की जा रही है। प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में बुधवार को कुल 48,086 नमूनों की जांच की गयी। इस प्रकार अब तक 13,25,327 नमूनों की जांच की जा चुकी है। पूल टेस्टिंग के माध्यम से बुधवार को पांच पांच नमूनों के 2443 पूल लगाये गये, जिनमें से 371 पाजिटिव निकले जबकि दस दस नमूनों के 319 पूल लगाये गये, जिनमें से 46 पाजिटिव पाये गये। 

इसे भी पढ़ें: देशभर में कोरोना के 968876 कंफर्म केस, 612815 लोग हुए ठीक, 24915 की मौत

उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु के माध्यम से जिन लोगों को एलर्ट आये, ऐसे 2,66,785 लोगों को स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष या मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से फोन कर हाल चाल लिया गया है। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश में कुल 54,579 कोविड-19 हेल्पडेस्क स्थापित किये जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, राजस्व, पुलिस, ग्राम पंचायत, उद्योग विभाग एवं अन्य सरकारी विभागों द्वारा सरकारी कार्यालयों में, अस्पतालों में तथा महत्वपूर्ण व्यापारिक एवं औद्योगिक संस्थानों में कोविड हेल्पडेस्क बनाये गए है। उन्होंने बताया कि राज्य के जिन शहरों, एनसीआर और अन्य जिन बड़े शहरों में संक्रमण बढ़ रहा है, उसे लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिन्ता व्यक्त की है। इस बारे में गहन विचार विमर्श हो रहा है। लखनऊ, कानपुर, वाराणसी और झांसी के हालात की समीक्षा लगातार की जा रही है कि संक्रमण को कैसे नियंत्रित किया जाए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।