प्राइवेट में कोरोना वैक्सीन लगवाने पर देने होंगे पैसे, सरकारी अस्पताल में मुफ्त लगेगा

COVID-19 vaccine
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि एक मार्च से 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले 10 करोड़ लोगों को दी जाएगी। इसके साथ उन्होंने यह भी बताया कि 45 साल से अधिक उम्र के वो लोग जो दूसरी बीमारी से ग्रसित हैं, उन्हें भी वैक्सीन लगाई जाएगी।

नयी दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में एक बार फिर से वृद्धि देखी गई है। जिसको लेकर केंद्र सरकार चिंतित है और अब बड़ा ऐलान किया है। केंद्र की मोदी सरकार ने ऐलान किया कि 1 मार्च से 60 साल से अधिक उम्र वालों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्री पर कांग्रेस का हमला, फर्जी दवाई बेचने का लगाया आरोप 

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि एक मार्च से 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले 10 करोड़ लोगों को दी जाएगी। इसके साथ उन्होंने यह भी बताया कि 45 साल से अधिक उम्र के वो लोग जो दूसरी बीमारी से ग्रसित हैं, उन्हें भी वैक्सीन लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन की डोज10 हजार सरकारी केंद्रों पर और लगभग 20 हजार से ज्यादा प्राइवेट अस्पतालों में लगाई जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस महामारी का संकट अभी टला नहीं है: योगी आदित्यनाथ 

प्राइवेट अस्पतालों में लगेगा पैसा

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि 10 हजार सरकारी अस्पतालों में कोरोना की वैक्सीन मुफ्त में लगाई जाएगी लेकिन प्राइवेट अस्पतालों में इसका पैसा लगेगा। हालांकि, वैक्सीन लगवाने के लिए प्राइवेट अस्पतालों को कितना पैसा देने पड़ेगा, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है। उन्होंने कहा कि पैसों के बारे में स्वास्थ्य विभाग 2-3 दिन में जानकारी साझा करेंगे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़