हरियाणा में कोरोना वायरस संक्रमण के 8,841, हिमाचल प्रदेश में 1,975 नये मामले सामने आये

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 15, 2022   09:09
हरियाणा में कोरोना वायरस संक्रमण के 8,841, हिमाचल प्रदेश में 1,975 नये मामले सामने आये

शिमला से प्राप्त खबर के अनुसार राज्य में शुक्रवार को कोविड-19 के 1,975 नये मामले सामने आये, जबकि महामारी से एक और व्यक्ति की मौत होने से कुल मृतक संख्या बढ़ कर 3,872 हो गई।

चंडीगढ़/शिमला/श्रीनगर|  हरियाणा में कोरोना वायरस संक्रमण के शुक्रवार को 8,841 नये मामले सामने आये, जबकि महामारी से छह और लोगों की मौत हो गई। वहीं हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर में कोविड के क्रमश: 1975 और 2,456 नये मामले सामने आये। इन राज्यों के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

हरियाणा में एक आधिकारिक बुलेटिन के अनुसार उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर अब 41,420 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के दैनिक बुलेटिन के अनुसार गुरूग्राम जिले में कोविड से दो लोगों की मौत हुई और फतेहाबाद, जींद, यमुनानगरर और सिरसा में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई। राज्य में मृतकों की संख्या बढ़कर 10,091 हो गई है।

शिमला से प्राप्त खबर के अनुसार राज्य में शुक्रवार को कोविड-19 के 1,975 नये मामले सामने आये, जबकि महामारी से एक और व्यक्ति की मौत होने से कुल मृतक संख्या बढ़ कर 3,872 हो गई।

एक स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी। हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर और शिमला से सांसद सुरेश कश्यप कोरोना संक्रमित हो गये हैं। अलग-अलग सोशल मीडिया पोस्ट में, ठाकुर और कश्यप ने कहा कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो गये है।

जम्मू कश्मीर में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 2,456 नये मामले सामने आये, जबकि महामारी से पांच और लोगों की मौत होने से केंद्र शसित प्रदेश में कुल मृतक संख्या 4,557 हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि नये मामलों में से 934 जम्मू संभाग से और 1,522 कश्मीर संभाग से हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 10,003 हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।