DDMA की बैठक में फैसला, दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर अब नहीं लगेगा जुर्माना

DDMA की बैठक में फैसला, दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर अब नहीं लगेगा जुर्माना

डीडीएमए के सूत्रों ने कहा, 'जुर्माने को वापस लेने का मतलब यह नहीं है कि लोगों को मास्क का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए, कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन किया जाना चाहिए।' बता दें कि इससे पहले फरवरी के अंतिम सप्ताह में निजी वाहनों में मास्क नहीं पहनने पर जुर्मना नहीं लेने का फैसला किया गया था।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना खत्म करने का फैसला किया। वर्तमान में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना है। सूत्रों ने बताया कि जुर्माना वापस लेने का फैसला गुरुवार को डीडीएमए की बैठक के दौरान लिया गया। हालांकि, प्राधिकरण एक एडवाइजरी जारी कर लोगों को भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क पहनने के लिए कहा जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर तोड़फोड़ करने के आरोप में 8 गिरफ्तार, AAP ने की SIT जांच की मांग

डीडीएमए के सूत्रों ने कहा, "जुर्माने को वापस लेने का मतलब यह नहीं है कि लोगों को मास्क का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए, कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन किया जाना चाहिए।" बता दें कि इससे पहले फरवरी के अंतिम सप्ताह में निजी वाहनों में मास्क नहीं पहनने पर जुर्मना नहीं लेने का फैसला किया गया था। डीडीएमए ने मास्क नहीं पहनने पर पर जुर्माना के फैसले को वापस ले लिया है। 

इसे भी पढ़ें: कश्मीरी पंडितों की पीड़ा पर दिल्ली विधानसभा में लगे अट्टास ने चौंकाया

बता दें कि कोरोना की सामान्य होती स्थिति के बीच गुरुवार को डीडीएमए की बैठक हुई। उपराज्यपाल और दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिए गए फैसले से लोगों को बड़ी राहत है। बैठक में कोरोना महामारी की वर्तमान स्थिति पर चर्चा हुई। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।