डिजिटल माध्यमों के जरिए NCC कैडेट्स को दिया जाएगा प्रशिक्षण, रक्षा मंत्री ने जारी किया ऐप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 27, 2020   15:44
डिजिटल माध्यमों के जरिए NCC कैडेट्स को दिया जाएगा प्रशिक्षण, रक्षा मंत्री ने जारी किया ऐप

बयान में कहा गया है कि निकट भविष्य में स्कूलों और कॉलेजों के खुलने की संभावना नहीं है, इसलिए महसूस किया गया कि डिजिटल माध्यमों का उपयोग कर एनसीसी कैडेट्स को प्रशिक्षण दिया जाए।

नयी दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एनसीसी कैडेट के ऑनलाइन प्रशिक्षण में मदद के लिए बृहस्पतिवार को एक ‘ऐप’ जारी किया। रक्षा मंत्री ने एक बयान में कहा, ‘‘ कोविड-19 के कारण लगे प्रतिबंधों के मद्देनजर, एनसीसी (राष्ट्रीय कैडेट कोर) कैडेटों के प्रशिक्षण पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है क्योंकि यह ज्यादातर सम्पर्क-आधारित प्रशिक्षण है।’’ बयान में कहा गया है कि निकट भविष्य में स्कूलों और कॉलेजों के खुलने की संभावना नहीं है, इसलिए महसूस किया गया कि डिजिटल माध्यमों का उपयोग कर एनसीसी कैडेट्स को प्रशिक्षण दिया जाए। बयान में कहा कि ‘डीजीएनसीसी ऐप’ का लक्ष्य एनसीसी कैडेटों को पाठ्यक्रम, प्रशिक्षण वीडियो, अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न सहित सभी प्रशिक्षण सामग्री एक मंच पर मुहैया कराना है। 

इसे भी पढ़ें: रक्षा उपकरण आयात पर रोक से जुड़ी दूसरी सूची पर शुरू कर दिया है मंत्रालय ने काम 

बयान के अनुसार, ‘‘ सवाल पूछने के विकल्प का शामिल करके ऐप को परस्पर संवादात्मक बनाया गया है। इस विकल्प का इस्तेमाल कर कैडेट प्रशिक्षण पाठ्यक्रम से जुड़े सवाल पूछ सकते हैं और इनका जवाब योग्य प्रशिक्षकों के पैनल द्वारा दिया जाएगा।’’ इस मौके पर सिंह के साथ, रक्षा सचिव अजय कुमार, महानिदेशक एनसीसी लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चोपड़ा और मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ नागरिक और सैन्य अधिकारी मौजूद थे। 

इसे भी पढ़ें: छावनी कोविड योद्धा संरक्षण योजना का रक्षा मंत्री ने किया शुभारंभ, 10000 कर्मियों को मिलेगा बीमा कवर 

‘ऐप’ जारी होने के बाद सिंह ने ट्वीट किया कि यह ऐप ‘डिजिटल लर्निंग’ के संबंध में एनसीसी कैडेटों के लिए उपयोगी होगा और कोविड-19 के प्रतिबंधों के मद्देनजर पेश आ रही ‘प्रत्यक्ष संपर्क’ की कठिनाइयों को दूर करेगा। उन्होंने कहा कि एनसीसी राष्ट्र को एकता, अनुशासन, सेवा के मूल्य प्रदान करता है। मैंने ऐप के शुभारंभ के दौरान एनसीसी कैडेट्स के साथ बातचीत की और उनके सवालों के जवाब भी दिए। मैं उनकी सफलता और उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।