रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों की तैयारियों की समीक्षा की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2020   17:13
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों की तैयारियों की समीक्षा की

वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने सिंह को जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के साथ ही चीन से लगी सीमा से सटे इलाकों की स्थिति से अवगत कराया। सिंह ने सशस्त्र बलों को यह भी निर्देश दिया कि देश की अर्थव्यवस्था पर महामारी के प्रतिकूल प्रभाव के मद्देनजर वित्तीय संसाधनों का समुचित उपयोग सुनिश्चित हो।

नयी दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को सशस्त्र बलों के शीर्ष कमांडरों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि देश के विरोधियों को कोरोना वायरस महामारी से उत्पन्न मौजूदा स्थिति का फायदा उठाने का कोई मौका नहीं मिले। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि एक उच्च स्तरीय बैठक में सिंह ने सशस्त्र बलों की संचालन तैयारियों की समीक्षा की। सिंह ने शीर्ष सैन्य अधिकारियों से कहा कि वे देश के सामने किसी भी संभावित बाहरी सुरक्षा चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से सतर्क रहें।

वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने सिंह को जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के साथ ही चीन से लगी सीमा से सटे इलाकों की स्थिति से अवगत कराया। सिंह ने सशस्त्र बलों को यह भी निर्देश दिया कि देश की अर्थव्यवस्था पर महामारी के प्रतिकूल प्रभाव के मद्देनजर वित्तीय संसाधनों का समुचित उपयोग सुनिश्चित हो। अधिकारियों ने बताया कि सिंह ने शीर्ष सैन्य कमांडरों को ऐसे कार्यों और परियोजनाओं की पहचान करने को कहा जिनसे अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार में सहायता मिल सकती है। 

इसे भी पढ़ें: राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों में सुधार के कदमों को लागू किये जाने की समीक्षा की

बैठक में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह, वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया, रक्षा सचिव अजय कुमार और सचिव रक्षा (वित्त) गार्गी कौल ने भी भाग लिया। सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना के प्रमुख कमानों के शीर्ष सैन्य अधिकारियों ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक में भाग लिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।