पराली जलाने की घटनाओं में वृद्धि के कारण दिल्ली की वायु गुणवत्ता “बेहद खराब”

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 17, 2021   05:52
पराली जलाने की घटनाओं में वृद्धि के कारण दिल्ली की वायु गुणवत्ता “बेहद खराब”

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की संस्था ‘सफर’ के अनुसार दिल्ली की हवा में पीएम 2.5 प्रमुख प्रदूषण कारक तत्व है जिसकी वजह से वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में दर्ज किया गया।

नयी दिल्ली|  पिछले दो दिन में पराली जलाने की घटनाओं में वृद्धि होने के कारण दिल्ली में शनिवार को वायु गुणवत्ता “बेहद खराब” श्रेणी में दर्ज की गई। अधिकारियों ने कहा कि शहर की हवा में प्रदूषण कारक तत्वों में से 14 प्रतिशत पराली जलाने की वजह से हैं।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की संस्था ‘सफर’ के अनुसार दिल्ली की हवा में पीएम 2.5 प्रमुख प्रदूषण कारक तत्व है जिसकी वजह से वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में दर्ज किया गया। ‘सफर’ के अनुसार, रविवार को बारिश हो सकती है जिससे हवा की गुणवत्ता में सुधार होने और “खराब” श्रेणी में रहने की उम्मीद है।

इसे भी पढ़ें: छात्रों और कार्यकर्ताओं ने जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद को इंसाफ दिलाने की मांग की





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।