दिल्ली की वायु गुणवत्ता मध्यम की श्रेणी में रही, अगले दो दिन में सुधार की उम्मीद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 23, 2021   04:18
दिल्ली की वायु गुणवत्ता मध्यम की श्रेणी में रही, अगले दो दिन में सुधार की उम्मीद
प्रतिरूप फोटो

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की मौसम पूर्वानुमान इकाई सफर के मुताबिक एक्यूआई शून्य से 50 के बीच ‘अच्छा’,51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’ और 301 से 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।

नयी दिल्ली|  दिल्ली में शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) ‘मध्यम’ की श्रेणी में दर्ज किया गया। हालांकि, तेज हवाओं और बारिश के कारण आने वाले दो दिन में वायु गुणवत्ता में सुधार होने की उम्मीद है।

अधिकारियों ने यह जानकारी दी। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की मौसम पूर्वानुमान इकाई सफर के मुताबिक,दिल्ली का एक्यूआई 162 दर्ज किया गया जोकि मध्यम की श्रेणी में आता है। एक्यूआई शून्य से 50 के बीच ‘अच्छा’,51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’ और 301 से 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।

इसके मुताबिक, स्थानीय शुष्क मौसम, पश्चिमी हवाओं और स्थानीय धूल उत्सर्जन के कारण पीएम10 के स्तर में इजाफा होगा। इसने कहा कि तेज हवाओं के साथ राजस्थान के रेगिस्तानी क्षेत्र सें आने वाले अतिरिक्त धूल कणों के कारण भी पीएम10 के स्तर में वृद्धि हो रही है।

वहीं, भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई), पंजाब के आंकड़ों के मुताबिक शुक्रवार को खेतों में पराली जलाने के मामलों में वृद्धि दर्ज की गई और ऐसे 1,288 मामले देखे गए। पंजाब में पराली जलाने के सबसे अधिक मामले 1111, हरियाणा में 140, मध्य प्रदेश में 29, राजस्थान में पांच और उत्तर प्रदेश में तीन मामले सामने आए। इस बीच, सफर ने कहा कि हवा की दिशा और तेजी से फैलाव के कारण पराली जलाने का प्रभाव बेहद कम रहा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।