घने कोहरे के चलते 5 विमानों का बदला गया रास्ता, देरी से चल रही 22 ट्रेनें

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2020   11:56
घने कोहरे के चलते 5 विमानों का बदला गया रास्ता, देरी से चल रही 22 ट्रेनें

दिल्ली हवाई अड्डे पर कोहरे के चलते पांच विमानों के मार्ग बुधवार सुबह बदले गए। हवाई अड्डे के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘पांच विमानों का मार्ग बदला गया है क्योंकि कैप्टन सीएटी स्थिति में विमान उतारने के लिए प्रशिक्षित नहीं था।’’

नयी दिल्ली। दिल्ली हवाई अड्डे पर कोहरे के चलते पांच विमानों के मार्ग बुधवार की सुबह बदले गए। वहीं 22 ट्रेनें अपने तय समय से देरी से चल रही हैं। हवाई अड्डे के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘ पांच विमानों का मार्ग बदला गया है क्योंकि कैप्टन सीएटी स्थिति में विमान उतारने के लिए प्रशिक्षित नहीं था।’’ रनवे पर जब न्यूनतम दृश्यता (आरवीआर) 200 मीटर होती है तो उपकरण लैंडिंग सिस्टम श्रेणी 3ए (सीएटीआईआईआईए) में प्रशिक्षित पायलट ही विमान को उतार सकता है।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे

आरवीआर के न्यूनतम 50 मीटर होने पर सीएटीआईआईआईबी लैंडिंग सिस्टम में प्रशिक्षित पायलट ही हवाई अड्डे पर विमान को उतार सकता है। मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘ न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम, सात डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।’’ हवा में आर्द्रता का स्तर 100 प्रतिशत और दृश्यता 50 मीटर रही। कोहरे की वजह से करीब 22 ट्रेनें अपने तय समय से देरी से चल रही हैं।

इसे भी पढ़ें: सर्द हवाओं से राजधानी को मिली फौरी राहत, धूप खिले रहने की संभावना

अगरतला-आनंद विहार टर्मिनस राजधानी एक्सप्रेस करीब डेढ़ घंटे और वाराणसी-नई दिल्ली काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस करीब पौने चार घंटे देरी से चल रही है। अधिकारियों ने बताया कि रीवा-आनंद विहार एक्सप्रेस करीब छह घंटे, आजमगढ़-दिल्ली जंक्शन कैफियत एक्सप्रेस करीब पौने छह घंटे और गाजीपुर-आनंद विहार एक्सप्रेस आठ घंटे की देरी से चल रही है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने ट्वीट किया, ‘‘ दिल्ली में घना कोहरा छाया है। बुधवार सुबह साढ़े पांच बजे दृश्यता 25 से 50 मीटर थी.. जो बाद में बेहतर हो सकती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ बेहद घने कोहरे के कारण दृश्यता कम है, जिससे विमान परिचालन और परिवहन सेवाएं प्रभावित हो रही हैं।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।