दिल्ली सरकार ने संभावित टिड्डी हमले के मद्देनजर जारी किया परामर्श, अधिकारियों को कीटनाशकों का छिड़काव करने को कहा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2020   18:20
दिल्ली सरकार ने संभावित टिड्डी हमले के मद्देनजर जारी किया परामर्श, अधिकारियों को कीटनाशकों का छिड़काव करने को कहा

परामर्श के अनुसार, ‘‘टिड्डी दल दिन में उड़ान भरता है और रात में आराम करता है इसलिए इसे रात में नहीं ठहरने देना चाहिए।’’

नयी दिल्ली। दिल्ली सरकार ने राजधानी में रेगिस्तानी टिड्डियों के संभावित हमले को रोकने के लिए संबंधित अधिकारियों से खड़ी फसलों, बाग-बगीचों में कीटनाशकों का छिड़काव करने को कहा है। कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक ए पी सैनी ने बुधवार को जारी एक परामर्श में अधिकारियों से राष्ट्रीय राजधानी में टिड्डी दल के हमले को रोकने के लिए जनता तथा किसानों के लिहाज से जागरुकता कार्यक्रम आयोजित करने को भी कहा। परामर्श के अनुसार, ‘‘टिड्डी दल दिन में उड़ान भरता है और रात में आराम करता है इसलिए इसे रात में नहीं ठहरने देना चाहिए।’’ 

इसे भी पढ़ें: टिड्डियों का हमला देख सहमे किसान, हाई अलर्ट पर प्रशासन, इन उपायों के जरिए बचाएं अपनी फसल 

इसमें अधिकारियों से क्लोरोपायरीफोस और मैलाथियोन कीटनाशकों का छिड़काव करने को कहा गया है। दिल्ली का वन विभाग अपनी नर्सरियों में पौधों को टिड्डी के प्रकोप से बचाने के लिए पॉलीथिन से ढकने पर विचार कर रहा है। वन विभाग के अधिकारी ईश्वर सिंह ने कहा कि पेड़ों को तो ढकना संभव नहीं है। कम से कम नर्सरियों के पौधों को ढका जा सकता है। उन्होंने कहा कि पॉलीथिन से पौधों को ढक देने से उन्हें धूप से भी बचाया जा सकता है। सिंह ने कहा कि दिल्ली जैसे शहर में रसायनों का छिड़काव पर्यावरण के लिए नुकसानदेह हो सकता है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।