शाहदरा गैंगरेप केस में आया नया मोड़, महिला को भीड़ के सामने बेइज्‍जत कर रहे आरोपियों में 2 नाबालिग भी शामिल

Delhi arrest
निधि अविनाश । Jan 29, 2022 5:12PM
दिल्ली के पूर्वी इलाके के कस्तूरबा नगर में एक महिला का पहले अपहरण किया फिर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। इतना ही नहीं महिला के चेहरे पर फिर कालिख पोती गई और जूते की माला पहनाकर उसे पूरे बाजार में घुमाया।

दिल्ली में महिला से सामूहिक बलात्कार मामले में 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि, इसमें सात महिलाएं आरोपी भी शामिल है। शहादरा पुलिस ने महिला को गंजा करने, जूते की माला पहनाने और पीड़िता के साथ बदसलूकी के मामले में 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। हैरानी की बात तो यह है कि, इन आरोपियों में दो नाबालिग भी शामिल है। सीसीटीवी फुटैज के मुताबिक, पुलिस ने इस मामले में 15 आरोपियों की पहचान की है। 

पुलिस की 5 टीम लगातार छापेमारी कर रही है जिससे जल्द से जल्द आरोपियों को गिरफ्तार किया जा सके। जानकारी के लिए बता दें कि, दिल्ली के पूर्वी इलाके के कस्तूरबा नगर में एक महिला का पहले अपहरण किया फिर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। इतना ही नहीं महिला के चेहरे पर फिर कालिख पोती गई और जूते की माला पहनाकर उसे पूरे बाजार में घुमाया। महिला के साथ इतनी बेरहमी करने के पीछे की वजह बदला बताई जा रही है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, 20 साल की पीड़िता की इस समय काउंसलिंग की जा रही है। बता दें कि, महिला अपने पति के साथ आनंद विहार रहती है और कस्तूरबा नगर में उसकी मां के घर के पास रहने वाले आरोपी ने महिला का अपहारण कर लिया था। जांच में पता चला कि आरोपी के परिवार का लड़का और पीड़िता दोस्त थे। आरोपी के परिवार के लड़के ने पिछले साल नवंबर में आत्महत्या कर ली थी जिसका दोषी लड़के के परिवार वाले पीड़िता को ठहरा रहे है। यहीं वजह है कि महिला के साथ इतनी गंदी हरकत की गई और बदले की भावना से पहले उसका अपहरण किया और फिर गैंगरेप कराया ताकि उसको सबक सिखाया जा सके।

इसे भी पढ़ें: 52 साल के इमाम ने किया 8 साल की बच्ची का रेप, घर पहुंची तो खून से सने थे मासूम के कपड़े

अधिकारियों ने खुलासा किया है कि, आरोपियों को पुलिस हिरासत में बंद किया गया हा और उनसे लगातार पूछताछ की जा रही है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि, पिड़िता को बदनाम करने के लिए यह सब किया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ  भारतीय दंड संहिता की बारह धाराएं जोड़ दी है और पिड़िता के परिवारवालों को सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, पूर्वी दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर और डीसीडब्ल्यू अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने घटना की निंदा करते हुए कड़ी कारवाई की मांग की है। केजरीवाल ने कहा कि, 'अपराधियों में इतना साहस कैसे आया? मैं केंद्रीय गृह मंत्री और उपराज्यपाल से पुलिस को सख्त कार्रवाई करने और कानून व्यवस्था की स्थिति पर ध्यान देने का निर्देश देने का अनुरोध करता हूं. दिल्लीवाले इस तरह के जघन्य अपराध को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे।'वहीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, 'उसे उसके घर से अपहरण कर लिया गया था और शराब-नशीली दवाओं के अवैध व्यापार में शामिल लोगों द्वारा सामूहिक बलात्कार किया गया था। पीड़िता ने आरोप लगाया कि जब उसका यौन उत्पीड़न किया जा रहा था, तब महिलाएं मौजूद थीं और पुरुषों को उकसा रही थीं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़