कोरोना काल में नि:शुल्क भोपाल उपलब्ध करवा दिगम्बर जैन पंचायत कमेटी ट्रस्ट बनी जरूरतमंदों का सहारा

कोरोना काल में नि:शुल्क भोपाल उपलब्ध करवा दिगम्बर जैन पंचायत कमेटी ट्रस्ट बनी जरूरतमंदों का सहारा

मजदूरों, वृद्ध एवं असहायजनों को प्रतिदिन सुबह और शाम के समय नि:शुल्क पौष्टिक भोजन उपलब्ध करा रही है। यह मानव सेवा ही नारायण सेवा को चरितार्थ् करता है। उन्होंने कहा कि इस आपदा के समय कोई भूखा न सोये यही सेवा भाव जागृत करता है।

भोपाल। कोरोना संकट हो या अन्य कोई आपदा गरीबों को सबसे पहले दो वक्त की रोटी की चिंता सताती है। ऐसे में दिगम्बर जैन पंचायत कमेटी ट्रस्ट के प्रमोद जैन और हिमांशु जैन द्वारा शहर के 3 स्थानों बैरसिया, सुल्तानियां अस्पताल के समीप और नादरा बस स्टैण्ड पर संचालित चलित वाहन के माध्यम से मजदूरों, वृद्ध एवं असहायजनों को प्रतिदिन सुबह और शाम के समय नि:शुल्क पौष्टिक भोजन उपलब्ध करा रही है। यह मानव सेवा ही नारायण सेवा को चरितार्थ् करता है। उन्होंने कहा कि इस आपदा के समय कोई भूखा न सोये यही सेवा भाव जागृत करता है। 

 

इसे भी पढ़ें: सेवा ही संगठन अभियान-2 में पीड़ितों की सहायता कर रहे पार्टी कार्यकर्ता व पदाधिकारी

कोरोना संक्रमण संकट के बीच चल रहें कोरोना कर्फ्यू के दौरान कोई भूखा न रहें, हर पेट में भोजन पहुंचे, इस उद्देश्य को लेकर प्रतिदिन लगभग 1200 लोगों को नि:शुल्क भरपेट भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। गरीब मजदूर और श्रमिकों को नि:शुल्क भरपेट भोजन कराने में लगे प्रमोद जैन और हिमांशु जैन ने बताया कि इस आपदा के समय कोई व्यक्ति भूखा न रहें इस उद्देश्य को चरितार्थ करते हुए गरीब लोगों की मदद इस विषम परिस्थिति में करना, मानव कल्याण है। यही सेवा भाव हमें प्रत्येक व्यक्ति के साथ रखना चाहिए। हिमांशु और प्रमोद द्वारा प्रतिदिन करीब 1200 गरीब, असहायजनों को सुबह और शाम का भोजन नि:शुल्क उपलब्ध करा रहें है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept