दिग्विजय सिंह महाराष्ट्र की राजनीति पर गढाए है नज़र, क्यों दी सु्प्रिया सुले को बधाई

दिग्विजय सिंह महाराष्ट्र की राजनीति पर गढाए है नज़र, क्यों दी सु्प्रिया सुले को बधाई

कांग्रेस से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह लगातार अपने बयानों से महाराष्ट्र की राजनीति पर सबका ध्यान अपनी ओर खींच रखा है। रविवार को उन्होनें एक और ट्वीट किया है जिसमें उन्होनें एनसीपी के विधायकों के संख्या बल को बताते हुए शरद पवार की पुत्री और एनसीपी नेता सुप्रिया सुले को बधाई दी है।

भोपाल। महाराष्ट्र में मचे सियासी घमाशान के बीच कांग्रेस से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने एनसीपी नेता और शरद पवार की पुत्री सुप्रिया सुले को बधाई दी है। दिग्विजय सिंह ने यह बधाई ट्विट कर सुप्रिया सुले को दी है। शनिवार सुबह बीजेपी के साथ हाथ मिलने वाले एनसीपी नेता अजीत पवार को उप मुख्यमंत्री की शपथ दिलाने वाले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से भी दिग्विजय सिंह ने सवाल किए है। 

 

इसे भी पढ़ें: मैं NCP में हूं और रहूंगा, शरद पवार ही हमारे नेता: अजित पवार

दिग्विजय सिंह ने एक दिन पहले मुख्यमंत्री की शपथ दिलाने वाले महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को संबोधित करते हुए पहला ट्वीट किया था कि महाराष्ट्र के राज्यपाल  महोदय से मोरे कुछ बुनियादी सवाल है 1- क्या राज्यपाल जी को NCP द्वारा समर्थन का कोई पत्र मिला 2- सामान्य रूप से राज्यपाल जी को NCP के अध्यक्ष जयंत पाटिल का विधायकों के हस्ताक्षरित सहित पत्र मिलने के बाद ही शपथ के लिए आमंत्रित करना चाहिए था। 3- यदि नहीं किया है तो क्या महामहिम राज्यपाल जी ने संविधान का उलंघन नहीं किया है?

 

इसे भी पढ़ें: अजित को शरद पवार का जवाब, कहा- बीजेपी के साथ गठबंधन का कोई सवाल ही नहीं

कांग्रेस से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह लगातार अपने बयानों से महाराष्ट्र की राजनीति पर सबका ध्यान अपनी ओर खींच रखा है। रविवार को उन्होनें एक और ट्वीट किया है जिसमें उन्होनें एनसीपी के विधायकों के संख्या बल को बताते हुए शरद पवार की पुत्री और एनसीपी नेता सुप्रिया सुले को बधाई दी है।

https://twitter.com/digvijaya_28/status/1198432668540530689?s=20

दिग्विजय सिंह ने मीडिया के सामने आकर भी महाराष्ट्र में जिस तरह एक रात में भाजपा की सरकार गठन पर सवाल खड़े किए थे। उन्होनें सुप्रिम कोर्ट और संविधान का हवाला देते हुए राज्यपाल से सवाल किए थे। यही नहीं भाजपा पर निशाना साधते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि मेघालय, गोवा, मणिपुर के बाद महाराष्ट्र में भी संविधान का माखौल उड़ाया जा रहा है।

 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र: कल तक के लिए टली सुनवाई, SC ने राज्यपाल से तलब किए सभी दस्तावेज

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव से पहले मोदी जी कहते थे कि न खाऊंगा न खाने दूंगा अब प्रधानमंत्री बनने के बाद खूब खाओ, खाकर खूब खिलाओ और ईडी, आईटी से मुक्ति पाओ । दिग्विजय सिंह ने शिव सेना को संविधान की रक्षा के लिए सड़क पर उतरना चाहिए, यह चुनौति है उद्धव ठाकरे कि मुम्बई में शिव सेना की क्या शक्ति है वह दिखाए। 






नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।