कांग्रेस में कलह: राहुल गांधी के पंजाब दौरे में नजर नहीं आए मनीष तिवारी समेत पांच सांसद

 Rahul Gandhi
नाराजगी जताने वालों में पूर्व मंत्री जगमोहन सिंह कांग, दमन सिंह बाजवा, सतविंदर बिट्टी और वर्तमान विधायक अमरीक सिंह ढिल्लों शामिल हैं।

राहुल गांधी का पंजाब दौरा आज से शुरू हुआ है। लेकिन राहुल के इस पंजाब दौरे में भी कांग्रेस में चल रही कलह नजर आई। यहां कांग्रेस के ही 5 सांसदों ने राहुल गांधी के दौरे का बायकॉट किया। इन सांसदों में मनीष तिवारी, रवनीत बिट्टू, जसबीर डिंपा, मोहम्मद सिद्दीकी और परनीत कौर शामिल हैं। आपको बता दें परनीत कौर पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी हैं। कैप्टन ने कांग्रेस को छोड़कर पंजाब लोक कांग्रेस के नाम से एक नई पार्टी बनाई है, और इस बार भाजपा के साथ गठबंधन करके सियासी मैदान में उतर रहे हैं।

कांग्रेस ने बायकॉट की खबरों को किया खारिज

कांग्रेस की ओर से इस बात को खारिज किया गया कि सांसदों की ओर से राहुल के इस दौरे का बायकॉट किया गया है। पार्टी के सांसद जसबीरर सिंह गिल ने ट्वीट कर कहा कि, इस इवेंट में बस 117 कांग्रेस प्रत्याशियों को हे बुलाया गया था। सांसदों को न्योता नहीं था। इसलिए बायकॉट जैसी कोई बात नहीं है। इससे पहले भी उन्होंने एक ट्वीट कर कहा था कि निजी कार्य के चलते मैं अमृतसर के कार्यक्रम में नहीं पहुंच सका। इस संबंध में मैंने कांग्रेस लीडरशिप को जानकारी दे दी है। कृपया कोई अनुमान न लगाएं।

राहुल गांधी का पंजाब दौरा

राहुल गांधी का पंजाब मिशन आज से शुरू हो गया है। राहुल विशेष विमान से आज अमृतसर पहुंचे, जहां मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और कांग्रेस अध्यक्ष (पंजाब) नवजोत सिंह सिद्धू के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने उनका इस्तकबाल किया। राहुल गांधी इसके बाद श्री दरबार साहिब गए जहां उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशियों के साथ माथा टेकने के बाद लंगर खाया। इसके बाद वह जलियांवाला बाग गए। यहां उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि दी। राहुल गांधी भगवान वाल्मीकि तीर्थ में और श्री दुर्ग्याणा मंदिर में भी माथा टेकने गए।

जालंधर के मीट्ठापुर में पंजाब फतेह के नाम से राहुल गांधी ने एक वर्चुअल रैली को भी संबोधित किया। आपको बता दें कि, महीने की शुरुआत में इलेक्शन कमीशन द्वारा रैलियों पर प्रतिबंध के बाद राहुल गांधी का यह पहला पंजाब दौरा है। पंजाब में 20 फरवरी को विधानसभा चुनाव होंगे। मतगणना 10 मार्च को होगी।

टिकट बंटवारे को लेकर कांग्रेस में कलह

कांग्रेस की ओर से पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 23 उम्मीदवारों की दूसरी जबसे जारी की गई है तब से ही टिकट के कई दावेदारों ने टिकट ना मिलने पर नाराजगी जाहिर की है। नाराजगी जताने वालों में पूर्व मंत्री जगमोहन सिंह कांग, दमन सिंह बाजवा, सतविंदर बिट्टी और वर्तमान विधायक अमरीक सिंह ढिल्लों शामिल हैं। जगमोहन सिंह खरड़ से पार्टी का टिकट मांग रहे थे, उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री चन्नी ने उनकी उम्मीदवारी का विरोध किया। वही कांग ने दावा किया कि शराब ठेकेदार विजय शर्मा का चन्नी ने समर्थन किया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़