प्रदेश में कोरोना की दुरसी लहर के चलते भी लगातार हो रहे थे रेप, आकड़ो में दिखी बढ़ोत्तरी

प्रदेश में कोरोना की दुरसी लहर के चलते भी लगातार हो रहे थे रेप, आकड़ो में दिखी बढ़ोत्तरी

कोरोना महामारी के अपराधो का आंकडा थमा नहीं। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लगाए गए कोरोना कर्फ्यू में भी अपराध के कई मामले सामने आए हैं।प्रदेश में 10 अप्रैल के बाद कोरोना कर्फ्यू लगाया गया था। जिसके बाद 1 जून से कोरोना कर्फ्यू में छूट दी गई थी। और इसी दौरान अप्रैल और मई में 741 रेप के मामले दर्ज हुए थे।

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी के अपराधो का आंकडा थमा नहीं। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लगाए गए कोरोना कर्फ्यू में भी अपराध के कई मामले सामने आए हैं। आंकडो की अगर बात की जाए तो प्रदेश में पिछले 6 महीने में रेप के मामलों में 30 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है।

इसे भी पढ़ें:मध्य प्रदेश में बंद रहेंगे सरकारी दफ्तरों के काम, कर्मचारियों की हड़ताल 

आपको बता दें कि बीते 6 महीनों में रेप के मामलों में पिछले साल की तुलना में 33 प्रतिशत अधिक बढोत्तरी हुई है। वहीं कोरोना कर्फ्यू के दौरान भी रेप के मामलों में बढ़ोत्तरी देखने को मिली। दरअसल प्रदेश में 10 अप्रैल के बाद कोरोना कर्फ्यू लगाया गया था। जिसके बाद 1 जून से कोरोना कर्फ्यू में छूट दी गई थी। और इसी दौरान अप्रैल और मई में 741 रेप के मामले दर्ज हुए थे।

नेशनल क्राइम ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक साल 2020 में साल 2019 के मुकाबले 2 गुना रेप के मामले दर्ज हुए। जिसके बाद स्टेट क्राइम ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक साल 2020 में 4553 ज्यादा मामले सामने आए।

इसे भी पढ़ें:बाथरूम में मिला महिला का शव, पूरा परिवार है गायब 

वहीं अधिकारियों ने बताया है कि का इन मामलों मे से अधिकतर प्रकरण ऐसे हैं जिनमें लापता युवती अपने परिजनों के पास वापस लौट चुकी हैं। इसके साथ ही महिला की सहमति के साथ बनाए शारीरिक संबंधों के बाद भी जो केस दर्ज कराए जाते है वो भी रेप के मामले में दर्ज होता है। वहीं शादी का झांसा देकर जैसे शारीरिक संबंधों के बाद भी रेप का मामला दर्ज किया जाता है। और इसी कारण इन आकड़ो में वृद्धि हुई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...