लॉकडाउन के दौरान भोपाल के इस नन्हें फिल्म मेकर ने बनाई कोरोना संक्रमण से बचाव पर फिल्में

लॉकडाउन के दौरान भोपाल के इस नन्हें फिल्म मेकर ने बनाई कोरोना संक्रमण से बचाव पर फिल्में

आदित्य ने पिछले एक महिनें में लॉकडाउन के दौरान दस फिल्मों के निर्माण के साथ न्यूज़ कैप्सूल भी बनाए है। जिसमें कोरोना से बचाव के बारे में जानकारी दी गई है। इस नन्हें फिल्म मेकर ने सबक नाम की फिल्म के जरिए कोरोना महामारी से बचने के उपाय बड़े ही रोचक तरीके से प्रस्तुत किए हैं।

भोपाल। कोरोना संक्रमण को लेकर जहाँ पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है। डब्ल्यू.एच.ओ ने इसे महामारी घोषित किया है। वही इस लॉकडाउन के दौरान कुछ ऐसे भी लोग भी है, जो इस बीमारी को लेकर लोगों को जागृत करने का काम कर रहे है। इन्हीं में से एक है भोपाल के रहने वाले नन्हे फिल्म मेकर आदित्य चौरसिया। जो लॉकडाउन के दौरान फिल्में और न्यूज़ कैप्सूल बनाकर कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों को जागृत करने में लगे है। आदित्य अभी महज 15 साल के है और दसवीं कक्षा में पढ़ते है। आदित्य वन मैन आर्मी की दर्ज पर खुद ही अपनी फिल्मों के लिए शूट करते है और खुद ही उनकी एडिटिंग। आदित्य ने इसके लिए बाकायदा किप्स से फिल्म मेकिंग का कोर्स किया है। जिसमें उन्होनें  एसएफएक्स  स्पेशल इफेक्टस और नॉन लाइनर वीडियो एडिटिंग के विषय में सीखा है। आदित्य दिल्ली के प्रसिद्ध फिल्म निर्माता रोशन तारिक से अपनी फिल्मों को लेकर समय-समय पर चर्चा करते रहते है। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में इंदौर, उज्जैन और भोपाल में हालात खराब, लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमित

आदित्य ने पिछले एक महिनें में लॉकडाउन के दौरान दस फिल्मों के निर्माण के साथ न्यूज़ कैप्सूल भी बनाए है। जिसमें कोरोना से बचाव के बारे में जानकारी दी गई है। इस नन्हें फिल्म मेकर ने सबक नाम की फिल्म के जरिए कोरोना महामारी से बचने के उपाय बड़े ही रोचक तरीके से प्रस्तुत किए हैं। इसमें वरिष्ठ रंगकर्मी के.जी. त्रिवेदी और विभा श्रीवास्तव जैसे वरिष्ठ  कलाकार हैं। आदित्य ने दूसरी फिल्म कोरोना वायरस के लक्षण और हृदय पर दूसरी फिल्म सुप्रसिद्ध डॉक्टर स्कंद त्रिवेदी हार्ट स्पेशलिस्ट के सहयोग से बनाई है। जिससे कोरोना वायरस से पूरी दुनियां के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को सबक मिला है। वही तीसरी फिल्म आदित्य ने शहर के युवा पार्षद अमित शर्मा द्वारा लॉकडाउन के दौरान जनहित में किए जा रहे कार्यों को लेकर मानव सेवा नाम की फिल्म बनाई। साथ ही पार्षद जगदीश यादव द्वारा लोगों की सहायता और सहयोग करने के उपर फिल्म निर्माण की है।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में इंदौर, उज्जैन और भोपाल में हालात खराब, लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमित

जबकि चौथी फिल्म डायबिटोलॉजिस्ट डॉ. सचिन गुप्ता द्वारा कोरोना काल में डायबिटीज के रोगियों को इलाज के संबंध में और वर्तमान परिस्थितियों के संबंध में कैसे रहना है यह बताने हुए फिल्म बनाई है। आदित्य ने पांचवी फिल्म डॉक्टर पद्ममाकर द्वारा कोरोना वायरस से कैसे बचाव करें और उनके क्या लक्षण है पर बनाई है। आदित्य ने पर्यावरण पर भी फिल्म निर्माण की है। जिसमें सुनील दुबे के सहयोग से मानवता वृक्ष मित्र नाम की फिल्म पर्यावरण और जन सहयोग विषय पर है। इसी के साथ पुलिस पत्रिका के संपादक डा. जावेद इकबाल द्वारा पुलिस के हितों की रक्षा की अपील और सहयोग है पर फिल्म निर्माण किया है।

 इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में सरकार स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश की घोषणा, कोरोना काल में होगी ऑनलाइन पढाई

आदित्य ने न्यूज़ कैप्सूल पब्लिक रिलेशन्स सोसायटी, भोपाल के अध्यक्ष पुष्पेंद्र पाल सिंह द्वारा लॉकडाउन में आम लोगों से सहयोग और कोरोना से बचने की प्रेरणादायक अपील की है। वही समाचार पत्र राष्ट्रीय हिंदी मेल के मुख्य संपादक विजय दास द्वारा मीडिया कर्मीयों हित में संदेश देते फिल्म कैप्सूल का निर्माण किया है। आदित्य की यह फिल्में सोशल मीडिया के माध्यम से देश-विदेशों में वायरल हो रही है, जिनके माध्यम से कोरोना वायरस से बचाव के तरीके बताकर एक बहुत बड़ा जागरूकता अभियान चला रहे हैं। मिशन मंगल के डायरेक्ट प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक जगन शक्ति ने पब्लिक रिलेशन्स सोसायटी, भोपाल द्वारा आयोजित विज्ञान फिल्म निर्माण कार्यशाला के दौरान आदित्य को उनकी विज्ञान फिल्मों के लिए सम्मानित कर चुके है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।