हरियाणा में ईस्ट-वेस्ट कनेक्टिविटी बनेगी बेहतर - दुष्यंत चौटाला

हरियाणा में ईस्ट-वेस्ट कनेक्टिविटी बनेगी बेहतर - दुष्यंत चौटाला

हरियाणा सरकार बेहतर योजनाबद्ध तरीके से प्रदेश के चंहुमुखी विकास के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए सरकार द्वारा अनेक विकास परियोजनाएं क्रियांवित करते हुए धरातल पर आमजन को लाभान्वित करने की दिशा में कारगर कदम उठाए हैं। उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला आज रेवाड़ी में 15 करोड़ 60 लाख रूपए की लागत की विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने उपरांत आयोजित समीक्षा बैठक में बोल रहे थे

चंडीगढ़ । उप मुख्यमंत्री  दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में ईस्ट-वेस्ट कनेक्टिविटी से विकास के नए द्वार खुलेंगे। हरियाणा सरकार बेहतर योजनाबद्ध तरीके से प्रदेश के चंहुमुखी विकास के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए सरकार द्वारा अनेक विकास परियोजनाएं क्रियांवित करते हुए धरातल पर आमजन को लाभान्वित करने की दिशा में कारगर कदम उठाए हैं।

उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला आज रेवाड़ी में 15 करोड़ 60 लाख रूपए की लागत की विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने उपरांत आयोजित समीक्षा बैठक में बोल रहे थे।

बैठक में केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह भी वर्चुअल रूप से जुड़े और अपनी बात रखते हुए कहा कि केंद्र सरकार हर पहलू पर प्रदेश के विकास में सहभागी है। ऐसे में प्रदेश सरकार की ओर से जिला रेवाड़ी की सडक़ों के नवीनीकरण व सुधारीकरण की ओर जो ध्यान दिया है वह बेहद जरूरी है। उन्होंने रेवाड़ी-बावल व रेवाड़ी-शाहंजापुर सडक़ निर्माण कार्य को शीघ्र पूरा करवाने की बात रखी। उन्होंने पाली रेलवे क्रॉसिंग पर पीडब्ल्यूडी के कार्य को भी जल्द से जल्द पूरा करवाने की बात कही।उप-मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने केन्द्रीय मंत्री को बताया कि रेवाड़ी-बावल फोर लेन के लिए टैंडर जारी किए जा चुके हैं तथा रेवाड़ी-शाहंजापुर मार्ग का कार्य भी अलॉट किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि अन्य सभी सडक़ों की मरम्मत का कार्य इस वर्ष जुलाई माह तक पूरा कर लिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा में होगा अब तेज गति से विकास, बड़ी परियोजनाओं पर काम होगा तेज

चौटाला ने केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह को आश्वस्त किया कि पाली रेलवे क्रॉसिंग पर पीडब्ल्यूडी के कार्य को इस वर्ष जून माह तक पूरा कर लिया जाएगा। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि रेवाड़ी जिला के साथ-साथ प्रदेश की सभी क्षतिग्रस्त सडक़ों की मुरम्मत का कार्य जून माह तक पूरा कर लिया जाएगा, जिससे प्रदेश के सडक़ तंत्र को मजबूती मिलेगी।

इसे भी पढ़ें: ग्रामीण युवाओं के लिए लैंडमार्क साबित होगी ‘पदमा’ स्कीम : दुष्यंत चौटाला

उप मुख्यमंत्री  दुष्यंत चौटाला ने सुलखा से रेवाड़ी वाया भाड़ावास-जाटूवास तक 754.97 लाख रुपए की लागत से बनने वाली नई सडक़ के निर्माण, राजगढ़ से आसरा का माजरा-भादौज (नंगली से भादौज) तक 117.06 लाख रुपए की लागत से सडक़ के सुदृढीकऱण, कासौली से पीथनवास तक सडक़ का 136.27 लाख रुपए की लागत से सडक़  का चौड़ीकरण व सुदृढीकऱण, नारनौल-रेवाड़ी सडक़ से बवाना गुर्जर तक 122.60 लाख रुपए की लागत से सडक़ के सुदृढीकऱण, कालूवास से हरिजन बस्ती, गोकलगढ़ गांव व गिंदोखर की सीमा तक तथा बेरियावास से माजरा गुरदास तक 189.41 लाख रुपए की लागत से नई सडक़ के निर्माण, गांव झाल (सुबाना-कोसली-नाहड़-कनीना सडक़) से जुड्ड़ी तक 96.95 लाख रुपए की लागत से नई सडक़ के निर्माण, जाटूसाना-गुडियानी से मुबारिकपुर चौक तक 140.61 लाख रुपए की लागत से नई सडक़ के सुदृढ़ीकरण कार्य का शिलान्यास किया।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री ने इन्फोसिस द्वारा दी गई एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

उपमुख्यमंत्री  दुष्यंत चौटाला ने समीक्षा बैठक में विभिन्न विभागों के विकास कार्यों की प्रगति बारे विस्तार से समीक्षा की और लंबित कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करवाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि यदि मुख्यालय स्तर पर किसी परियोजना का कार्य लंबित है तो उस बारे में संबंधित विभागाध्यक्ष मुख्यालय से संपर्क करके उस परियोजना को जल्द से जल्द पूरा करवाएं।

इस अवसर पर उपायुक्त श्री यशेन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुमार, एडीसी श्रीमती आशिमा सांगवान, सहित अन्य विभागाध्यक्ष मौजूद रहे।

सरस्वती नदी को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से सोम्ब नदी आदिबद्री पर बाँध का निर्माण किया जाएगा। बाँध निर्माण को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल और हिमाचल के मुख्यमंत्री  जयराम ठाकुर शुक्रवार को पंचकूला में एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर करेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।