• तीसरे चरण के ट्रायल में Covaxin की प्रभाविकता 77.8 प्रतिशत, सरकार को भारत बायोटेक ने सौंपा डाटा

अंकित सिंह Jun 22, 2021 16:13

आपको बता दें कि कोवैक्सीन को तीसरे चरण के ट्रायल के नतीजों के बिना ही 5 महीने पहले आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी गई थी। बिना ट्रायल नतीजों के इस्तेमाल के मंजूरी को लेकर काफी विवाद भी हुआ था।

कोरोना वायरस महामारी के बीच देश में टीकाकरण अभियान लगातार जारी है। इन सबके बीच स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के परिणाम सामने आए हैं। तीसरे चरण के ट्रायल डाटा के मुताबिक कोवैक्सीन की प्रभाविकता 77.8 प्रतिशत है। इसको लेकर भारत बायोटेक ने केंद्र सरकार की कमेटी को एक रिपोर्ट की सौंपी है।

आपको बता दें कि कोवैक्सीन को तीसरे चरण के ट्रायल के नतीजों के बिना ही 5 महीने पहले आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी गई थी। बिना ट्रायल नतीजों के इस्तेमाल के मंजूरी को लेकर काफी विवाद भी हुआ था। फिलहाल भारत में दो टीकों का इस्तेमाल टीकाकरण अभियान में किया जा रहा है। पहला है सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशिल्ड है जबकि दूसरा कोवैक्सीन है। कोवैक्सीन पूरी तरह से भारतीय है।