कैबिनेट की आठों समितियों में सामिल हैं गृह मंत्री अमित शाह

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 6 2019 5:06PM
कैबिनेट की आठों समितियों में सामिल हैं गृह मंत्री अमित शाह
Image Source: Google

पूर्ववर्ती सरकार में गृह मंत्री और मौजूदा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहले छह समितियों के सदस्य थे लेकिन अब वह सिर्फ दो समितियों- आर्थिक मामलों और सुरक्षा संबंधी समितयों के सदस्य हैं। वह राजनीतिक मामलों की कैबिनेट समिति के सदस्य नहीं हैं। भाजपा के अध्यक्ष शाह के सरकार में भी होने पर कई राजनीतिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि नयी सरकार में शाह दूसरे सबसे शक्तिशाली व्यक्ति होंगे।

नयी दिल्ली। सरकार ने मंत्रिमंडल की जिन आठ समितियों का गठन किया है, गृह मंत्री अमित शाह उन सभी में शामिल हैं और इससे नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में उनका महत्व प्रदर्शित होता है। इन समितियों का ब्यौरा बृहस्पतिवार को जारी किया गया। शाह जहां इन सभी समितियों में शामिल हैं, वहीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक को छोड़कर सभी समितियों की सदस्य हैं। आर्थिक मंदी को लेकर जतायी जा रही चिंताओं के बीच सरकार ने निवेश, वृद्धि, रोजगार और कौशल विकास जैसे मुद्दों से निपटने के लिए दो नयी समितियों का गठन किया है। इसके अलावा छह समितियों का पुनर्गठन किया है।

इसे भी पढ़ें: कैलाश को मिल सकता है भाजपा अध्यक्ष पद, बंगाल में दिलाई है पार्टी को बंपर जीत

पूर्ववर्ती सरकार में गृह मंत्री और मौजूदा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहले छह समितियों के सदस्य थे लेकिन अब वह सिर्फ दो समितियों- आर्थिक मामलों और सुरक्षा संबंधी समितयों के सदस्य हैं। वह राजनीतिक मामलों की कैबिनेट समिति के सदस्य नहीं हैं। भाजपा के अध्यक्ष शाह के सरकार में भी होने पर कई राजनीतिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि नयी सरकार में शाह दूसरे सबसे शक्तिशाली व्यक्ति होंगे।

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार ने किया मंत्रिमंडल की विभिन्न समितियों का गठन, रोजगार सृजन पर जोर



नयी नियुक्ति ने उनकी स्थिति को और मजबूत बना दिया है। शाह ने चार जून को कच्चे तेल से संबंधित मुद्दों पर सीतारमण के अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर, वाणिज्य और रेल मंत्री पीयूष गोयल, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सहित कई कैबिनेट मंत्रियों की अनौपचारिक बैठक की अध्यक्षता की थी। राजनीतिक सूत्रों ने कहा कि सरकार का प्रयास रहा है कि छह समितियों में विभागों को लगभग समान महत्व मिले। पहले की सरकार में यह व्यवस्था थी और गृह मंत्री के रूप में सिंह सभी छह समितियों के सदस्य थे। पिछली सरकार में वित्त मंत्री अरुण जेटली सभी समितियों के सदस्य थे।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video