मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण कम करने के लिए करवाए जाए चुनाव, कांग्रेस विधायक ने लिखा ईसी को पत्र

Congress MLA wrote letter to EC
दिनेश शुक्ल । Mar 29, 2021 10:17PM
विधायक विपिन वानखेड़े ने इसका उदारहण देते हुए लिखा कि बंगाल सहित पाँच राज्यों में विधानसभा चुनाव है, वहां भारी भरकम भीड़ के साथ रैलीयां की जा रही है। जिससे वहां कोरोना ने जाने से मना कर दिया है। जिसमें हमारे देश के प्रधानमंत्री से लेकर कई राज्यों के मुख्यमंत्री सरकार की गॉइडलाइनों का पालन करते हुए प्रचार-प्रसार कर रहे हैं।
भोपाल। मध्य प्रदेश में आगर विधानसभा से विधायक विपिन वानखेड़े ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर राज्य में चुनाव करवाने की माँग की है। उनका मानना है कि अगर प्रदेश में चुनाव होंगे तो राज्य से कोरोना संक्रमण भाग जाएगा। विपिन वानखेड़े ने चुनाव आयोग को लिखे पत्र में मांग करते हुए लिखा कि आगर, इंदौर सहित पूरे मध्य प्रदेश में तेजी से कोरोना फैल रहा है। जिससे कि लोगों के मन में फिर से लॉकडाउन का डर फैल गया है। इसलिए प्रदेश की जनता चाहती है क्यों ना आगर, इंदौर, उज्जैन, देवास तथा पूरे मध्य प्रदेश में भी चुनाव कराया जाए ? और बड़े-बड़े नेताओ की रैलीयां कराई जाए तथा रैली में भारी भीड़ को इकट्ठा कराया जाए, जिससे कोरोना भीड़ को देखकर मध्य प्रदेश को छोड़कर भाग जाए।

 

इसे भी पढ़ें: औरंगाबाद रेल हादसे के मृतक परिवारों को दस माह बाद भी मृत्यु प्रमाण पत्र का इंताजर

विधायक विपिन वानखेड़े ने इसका उदारहण देते हुए लिखा कि बंगाल सहित पाँच राज्यों में विधानसभा चुनाव है, वहां भारी भरकम भीड़ के साथ रैलीयां की जा रही है। जिससे वहां कोरोना ने जाने से मना कर दिया है। जिसमें हमारे देश के प्रधानमंत्री से लेकर कई राज्यों के मुख्यमंत्री सरकार की गॉइडलाइनों का पालन करते हुए प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। जिससे वहां कोरोना का संक्रमण कम हो गया है। विधायक ने मांग करते हुए लिखा कि सम्पूर्ण मध्य प्रदेश में अतिशीघ्र नगर पालिका व पंचायत चुनाव कराए जाए। पत्र लिखकर कांग्रेस विधायक विपिन वानखेड़े ने कोरोना संक्रमण का चुनाव रैलियों और सभाओं में मखौल उड़ाए जाने को लेकर कटाक्ष किया है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़