बालाकोट स्ट्राइक में शामिल थीं महिला IAF अधिकारी मिंटी अग्रवाल, बताया अपना अनुभव

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Aug 16 2019 1:10PM
बालाकोट स्ट्राइक में शामिल थीं महिला IAF अधिकारी मिंटी अग्रवाल, बताया अपना अनुभव
Image Source: Google

युद्ध सेवा पदक से सम्मानित महिला वायुसेना अधिकारी मिंटी अग्रवाल ने कहा कि बालाकोट ऑपरेशन का हिस्सा होने के अनुभव की तुलना दुनिया में किसी चीज से नहीं की जा सकती।

नयी दिल्ली। पाकिस्तान के साथ फरवरी में हुए हवाई संघर्ष में उड़ान नियंत्रक के तौर पर अहम भूमिका निभाने वाली और युद्ध सेवा पदक से सम्मानित महिला वायुसेना अधिकारी मिंटी अग्रवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि बालाकोट ऑपरेशन का हिस्सा होने के अनुभव की तुलना दुनिया में किसी चीज से नहीं की जा सकती। सैन्य सम्मान से नवाजे जाने पर अधिकारी ने कहा कि इस भावना को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। 

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के F16 विमानों पर अमेरिका रखेगा नज़र, 12.5$ की हुई डील

उन्होंने कहा कि 26 और 27 फरवरी जैसे ऑपरेशनों की वजह से ही हम इस वर्दी को पहनते हैं। यह मेरा सौभाग्य था कि मुझे इन ऑपरेशन का हिस्सा बनने का अवसर मिला। इस अनुभव की तुलना दुनिया में किसी चीज से नहीं की जा सकती। स्क्वाड्रन लीडर अग्रवाल ने भारत की ओर से पाकिस्तान के भीतर बालाकोट हमले किए जाने के एक दिन बाद 27 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर की ओर बढ़ रहे पाकिस्तानी वायुसेना विमानों का पता लगने के बाद भारतीय वायुसेना टीमों को सतर्क किया था।

इसे भी पढ़ें: आतंकवाद का कोई राइट या लेफ्ट नहीं होता, आतंकवाद सिर्फ आतंकवाद होता है: अमित शाह

अग्रवाल के इस कदम के कारण भारतीय वायुसेना को पाकिस्तानी हमले का तेजी से जवाब देने में मदद मिली। भारतीय वायुसेना को पांच युद्ध सेवा पदकों और सात वायुसेना पदकों समेत 13 पुरस्कार मिले हैं।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video