भोपाल में नकली पनीर और घी हुआ जब्त, मुख्यमंत्री के निर्देश पर हुई छापेमारी

Raid in bhopal
सुयश भट्ट । Jan 27, 2022 4:24PM
खाद्य विभाग को मुखबिर से सूचना मिली थी कि अशोका गार्डन के सेमरा इलाके में बड़ी मात्रा मे नकली पनीर और घी मुरैना से भोपाल लाया गया है। जिसके बाद खाद्य विभाग ने राजस्व विभाग और पुलिस के साथ मिलकर दुर्गा मंदिर के पास एक घर पर छापामार कार्रवाही की।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में खाद्य विभाग और राजस्व विभाग ने संयुक्त कार्रवाही करते हुए नकली पनीर और नकली घी के गोरखधंधे का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने कार्रवाही करते हुए 9 क्विंटल नकली पनीर और 20 किलो नकली घी जब्त किया है।

दरअसल भोपाल में बड़े पैमाने पर आम जनता की सेहत से खिलवाड़ किया जा रहा है। पनीर और घी को हम ये सोचकर खाते है कि इससे हमारे शरीर को पोष्टिक आहार मिलेगा। लेकिन मिलावटखोरों इसे जहर बना दिया है। बुधवार देर रात खाद्य विभाग, राजस्व विभाग और पुलिस ने संयुक्त कार्रवाही करते हुए 9 क्विंटल नकली पनीर और 20 किलो नकली घी जब्त किया।

इसे भी पढ़ें:ऑनलाइन मिलेगी निजी स्कूलों को मान्यता, 10 फरवरी तक कर सकेंगे आवेदन 

जानकारी मिली है कि खाद्य विभाग को मुखबिर से सूचना मिली थी कि अशोका गार्डन के सेमरा इलाके में बड़ी मात्रा मे नकली पनीर और घी मुरैना से भोपाल लाया गया है। जिसके बाद खाद्य विभाग ने राजस्व विभाग और पुलिस के साथ मिलकर दुर्गा मंदिर के पास एक घर पर छापामार कार्रवाही की।

वहीं आरोपी जितेंद्र जाटव और राहुल जादौन के पास से नकली घी और पनीर जब्त किया गया है। शुरुआती पूछताछ में दोनों ने बताया कि पनीर को वो मुरैना के दिग्विजय सिंह जादौन से लेकर आए थे। जिसे भोपाल में बेचने की तैयारी में थे।

इसे भी पढ़ें:भोपाल में युवक पर हुआ एसिड अटैक, पुलिस कर रही है जांच 

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज ने कलेक्टर और कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में अधिकारियों ने को निर्देश दिए थे कि मिलावाटखोरों के खिलाफ मुहिम चलाकर कार्रवाही की जाए। जिसके बाद भोपाल में पिछले एक हफ्ते के अंदर से दूसरी मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाही हुई है इससे पहले 8 क्विंटल नकली पनीर जब्त कर उस नष्ट किया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़