हिंदू वाहिनी के नेता होटल में पाए गए मृत, कांग्रेस ने बोम्मई सरकार को घेरा, कहा- मंत्री ईश्वरप्पा को किया जाए गिरफ्तार

DK Shivakumar
प्रतिरूप फोटो
कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने बताया कि हमने उडुपी के एक ठेकेदार संतोष पाटिल की मौत के बारे में सुना। हर कोई जानता है कि यह एक हत्या है। इसी के साथ ही डीके शिवकुमार ने केएस ईश्वरप्पा के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज करने और गिरफ्तार किए जाने की मांग की।

बेंगलुरू। कर्नाटक के उडुपी में हिंदू वाहिनी के नेशनल सेक्रेटरी और ठेकेदार संतोष पाटिल होटल के एक कमरे में मृत पाए गए। इस संबंध में कांग्रेस ने प्रदेश की बसवराज बोम्मई सरकार पर निशाना साधते हुए मंत्री केएस ईश्वरप्पा की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। आपको बता दें कि संतोष पाटिल उडुपी के एक होटल के कमरे में मृत पाए गए। जिसके तत्काल बाद पुलिस जांच में जुट गई। 

इसे भी पढ़ें: रामनवमी के दिन बेंगलुरू में बंद रहेंगी मीट का दुकानें, BBMP ने जारी किया आदेश 

ईश्वरप्पा की हो गिरफ्तारी

कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने बताया कि हमने उडुपी के एक ठेकेदार संतोष पाटिल की मौत के बारे में सुना। हर कोई जानता है कि यह एक हत्या है। इसी के साथ ही डीके शिवकुमार ने केएस ईश्वरप्पा के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज करने और गिरफ्तार किए जाने की मांग की।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने केएस ईश्वरप्पा को कैबिनेट से बर्खास्त करने की मांग की। सिद्धारमैया ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में बसवराज बोम्मई अपने मंत्री केएस ईश्वरप्पा के खिलाफ कार्रवाई करने में विफल रहे हैं जिन्हें कैबिनेट से बर्खास्त किया जाना चाहिए... संतोष पाटिल की मौत के लिए केएस ईश्वरप्पा जिम्मेदार हैं...उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए...पूरा राज्य जानता है कि केएस ईश्वरप्पा एक भ्रष्ट व्यक्ति हैं।

इसी बीच कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि केएस ईश्वरप्पा के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के बाद भाजपा कार्यकर्ता संतोष पाटिल को नहीं बख्शा गया... मुझे बताया गया है कि उन्होंने सुसाइड नोट में मंत्री का नाम लिया है। केएस ईश्वरप्पा को बिना किसी देरी के गिरफ्तार किया जाना चाहिए और अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: हिजाब, हलाल मीट के बाद उपजा एक और विवाद, दिलीप घोष बोले- मुस्लिम देशों में भी माइक पर नहीं दी जाती अज़ान 

संतोष पाटिल ने दोस्तों को भेजा था मैसेज !

अंग्रेजी समाचार वेबसाइट 'द हिंदू' की रिपोर्ट के मुताबिक, संतोष पाटिल कुछ वक्त पहले लापता हो गए थे। जिसके बाद बेलगावी पुलिस ने संतोष पाटिल की तलाश शुरू की थी। उस वक्त उनके दोस्तों को एक मैसेज रिसीव हुआ था जिसमें उन्होंने अपने जीवन को समाप्त करने की बात कही थी। 11 अप्रैल को अपने दोस्तों को भेजे मैसेज में संतोष पाटिल ने कहा था कि ईश्वरप्पा उनकी मौत के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं और मंत्री को दंडित किया जाना चाहिए।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़