आंध्र प्रदेश में बाढ़ का कहर, रेल और सड़क मार्गों से संपर्क टूटा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   13:30
आंध्र प्रदेश में बाढ़ का कहर, रेल और सड़क मार्गों से संपर्क टूटा

पाडुगुपाडु में सड़क के जलमग्न होने के बाद एसपीएस नेल्लोर जिले में चेन्नई-कोलकाता राष्ट्रीय राजमार्ग-16 को यातायात के लिए बंद करना पड़ा। पाडुगुपाडु में रेल की पटरियों पर बाढ़ का पानी आने के कारण चेन्नई-विजयवाड़ा मार्ग पर कम से कम 17 एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है।

आंध्र प्रदेश में पेन्ना नदी के उफान पर होने से मची भारी तबाही के कारण राज्य को दक्षिण तथा पूर्व से जोड़ने वाले मुख्य रेल और सड़क मार्ग से संपर्क रविवार को टूट गया। पाडुगुपाडु में सड़क के जलमग्न होने के बाद एसपीएस नेल्लोर जिले में चेन्नई-कोलकाता राष्ट्रीय राजमार्ग-16 को यातायात के लिए बंद करना पड़ा। पाडुगुपाडु में रेल की पटरियों पर बाढ़ का पानी आने के कारण चेन्नई-विजयवाड़ा मार्ग पर कम से कम 17 एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है। तीन अन्य ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया गया या उनका मार्ग परिवर्तित किया गया। राज्य के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा कि एसपीएस नेल्लोर जिले में सोमासिला जलाशय से दो लाख क्यूसेक से अधिक बाढ़ का पानी बह गया जिससे इलाका जलमग्न हो गया। इससे कोवुरु में राष्ट्रीय राजमार्ग-16 भी बाधित हो गया है। इसके बाद नेल्लोर और विजयवाड़ा के बीच एनएच-16 पर यातायात निलंबित कर दिया गया जिससे सैकड़ों वाहन कई किलोमीटर तक फंस गए। बस सेवाएं बाधित होने के कारण नेल्लोर आरटीएस बस स्टेशन पर सैकड़ों यात्री फंस गए। अधिकारियों ने बताया कि श्रीकालहस्ती से आ रहे वाहनों को टोट्टेमबेडु जांच चौकी पर रोका गया और पामुरु तथा दारसी के जरिए उनका मार्ग परिवर्तित किया गया। कड़पा जिले में पपाग्नी नदी पर बना पुल कमलापुरम में ढह गया जिससे कड़पा और अनंतपुरमु जिलों के बीच सड़क संपर्क टूट गया। उन्होंने बताया कि वेलिगल्लू जलाशय से आयी बाढ़ के कारण पुल ढह गया। कड़पा शहर में रविवार तड़के तीन मंजिला इमारत ढह गयी लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ क्योंकि घटना से कुछ मिनट पहले ही उसमें रह रहे लोग सुरक्षित बाहर आ गए थे। दूसरी मंजिल पर फंसे मां और एक बच्चे को पुलिस तथा दमकल कर्मियों ने बचा लिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।