चक्रवात के चलते पश्चिम बंगाल को हुआ अधिक नुकसान, NDRF की चार और टीमें भेजी जा रही कोलकाता: प्रधान

sn pradhan
एनडीआरएफ प्रमुख एस एन प्रधान ने कहा कि चक्रवात का सामना कर रहे राज्यों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक ऐसा लगता है कि ओडिशा के प्रभावित क्षेत्रों में सामान्य स्थिति की ओर जनजीवन के लौटने में 24-48 घंटे लगेंगे, जबकि पश्चिम बंगाल को कहीं अधिक नुकसान पहुंचा है।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) प्रमुख एस एन प्रधान ने बृहस्पतिवार को कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार के अनुरोध पर बल की चार अतिरिक्त टीमें कोलकाता भेजी जा रही हैं और वे वायुसेना के विमान से देर शाम तक वहां पहुंच जाएंगी। प्रधान ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चक्रवात अम्फान के चलते हुए नुकसान के मद्देनजर चेन्नई और पुणे से बल की दो-दो टीमें विमान से कोलकाता भेजी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि इन दोनों टीमों के शाम साढ़े चार बजे रवाना होने और रात करीब साढ़े आठ बजे कोलकाता पहुंचने का कार्यक्रम है। 

इसे भी पढ़ें: मौसम विभाग का पूर्वानुमान समय के साथ हो रहा बेहतर, ओडिशा सरकार ने कहा- जरूरी तैयारियां करने में काफी सहायता मिली 

प्रधान ने कहा कि चक्रवात का सामना कर रहे राज्यों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक ऐसा लगता है कि ओडिशा के प्रभावित क्षेत्रों में सामान्य स्थिति की ओर जनजीवन के लौटने में 24-48 घंटे लगेंगे, जबकि पश्चिम बंगाल को कहीं अधिक नुकसान पहुंचा है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में सर्वेक्षण किये जाने पर ही चक्रवात से हुए नुकसान का आकलन हो पाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़