सरकार कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए स्कूलों को खोलने के लिए मॉडल पर विचार कर रही है

Delhi Schools
कोरोना वायरस महामारी के कारण, छात्र कुछ संक्षिप्त अवधि को छोड़कर लगभग दो वर्षों से ज्यादातर ऑनलाइन कक्षाओं में भाग ले रहे हैं।

नयी दिल्ली| केंद्र सरकार कोविड-19 से संबंधित सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आफलाइन कक्षाओं के लिए स्कूलों को क्रमबद्ध तरीके से खोलने के वास्ते एक मॉडल पर काम कर रही है। वायरस के नए ओमीक्रोन स्वरूप के सामने आने के बाद देश के अधिकांश हिस्सों में स्कूलों की आफलाइन कक्षाएं बंद कर दी गयी हैं।

कोरोना वायरस महामारी के कारण, छात्र कुछ संक्षिप्त अवधि को छोड़कर लगभग दो वर्षों से ज्यादातर ऑनलाइन कक्षाओं में भाग ले रहे हैं।

एक उच्च पदस्थ सूत्र ने कहा, “जैसा कि माता-पिता स्कूलों को खोलने की मांग कर रहे हैं, केंद्र सरकार कोविड से संबंधित सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए स्कूलों को खोलने के लिए एक मॉडल पर काम कर रही है।”

महामारी विज्ञानी और सार्वजनिक नीति विशेषज्ञ चंद्रकांत लहरिया और सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च की अध्यक्ष यामिनी अय्यर के नेतृत्व में माता-पिता के एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से मुलाकात कर 1,600 से अधिक अभिभावकों द्वारा हस्ताक्षरित एक ज्ञापन सौंपा था, जिसमें स्कूलों को फिर से खोलने की मांग की गई थी। 

कुछ अन्य राज्यों में भी इसी तरह की मांग की गई है, हालांकि अभिभावकों का एक अन्य वर्ग ऑनलाइन कक्षाओं को जारी रखने के पक्ष में रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़