• किसानों से बातचीत के लिए भारत सरकार तैयार, कृषि मंत्री बोले- वे अपनी आपत्ति को खुले मन से बताएं

अंकित सिंह Jun 25, 2021 11:54

तोमर ने आगे कहा कि हम विचार और निराकरण करने के लिए तैयार हैं। जब भी किसानों की ओर से प्रस्ताव आएगा तो निश्चित रूप से हम बातचीत के लिए स्वागत करेंगे। जम्मू कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से सर्वदलीय बैठक की गई थी।

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर किसान आंदोलन जारी है। इन सबके बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बड़ा बयान दिया है। नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसान यूनियन के नेताओं से भारत सरकार 10-11 बार बात कर चुकी है। 50 घंटे से अधिक चर्चा चली है। हमने उनकी परेशानियों के समझने का प्रयत्न किया है। आज भी भारत सरकार पूरा मन रखती है कि जिस प्रावधान पर उन्हें आपत्ति है वे खुले मन से बताएं।

तोमर ने आगे कहा कि हम विचार और निराकरण करने के लिए तैयार हैं। जब भी किसानों की ओर से प्रस्ताव आएगा तो निश्चित रूप से हम बातचीत के लिए स्वागत करेंगे। जम्मू कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से सर्वदलीय बैठक की गई थी। इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि धारा 370 समाप्ति के बाद जम्मू-कश्मीर में पूरी तरह शांति है।  पंचायती राज मंत्रालय, केंद्र सरकार ने वहां पंचायतों के विकास के लिए एक बड़ी राशि दी है। प्रधानमंत्री की कल की बैठक बहुत सराहनीय रही है। सभी लोगों ने बैठक को आशा भरी नजरों से लिया है। 

इसे भी पढ़ें: संयुक्त किसान मोर्चा का बयान, आंदोलन के 7 महीने पूरे होने पर बड़ी संख्या में दिल्ली का रुख करेंगे किसान

इससे पहले किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा था कि कि 4 लाख ट्रैक्टर्स और 25 लाख लोग यहां पर हैं। ये ट्रैक्टर इसी देश के हैं और हम लोग अफगानिस्तान से नहीं आए हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक किसान नेता ने कहा कि पिछले सात महीने से हमारा आंदोलन चल रहा है, सरकार को शर्म नहीं आती? कोरोना की तीसरी वेव आती है तो भी हम यहीं रहेंगे। आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से चलता रहेगा। इससे पहले उन्होंने ट्वीट करके सरकार को चेतावनी दी कि 26 तारीख हर महीने आती है। सरकार इस बात को याद रख लें।