राज्यपाल ने कांगड़ा जिले में पल्स पोलियो अभियान का शुभारम्भ किया

राज्यपाल ने कांगड़ा जिले में पल्स पोलियो अभियान का शुभारम्भ किया

उन्होंने 0-5 वर्ष की आयु के बच्चों को दवा पिलाई। इस अभियान के तहत कांगड़ा जिले के 1.21 लाख से अधिक बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि लोगों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए चिकित्सा कर्मचारी प्रशंसनीय सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस बार का टीकाकरण ऐहतियाती बूस्टर डोज की तरह है।

शिमला  राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर ने रविवार को कांगड़ा जिले के जोनल अस्पताल धर्मशाला में एकीकृत पल्स पोलियो अभियान का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने 0-5 वर्ष की आयु के बच्चों को दवा पिलाई। इस अभियान के तहत कांगड़ा जिले के 1.21 लाख से अधिक बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी।

इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि लोगों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए चिकित्सा कर्मचारी प्रशंसनीय सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस बार का टीकाकरण ऐहतियाती बूस्टर डोज की तरह है।

इसे भी पढ़ें: जाइका के सहयोग से वन क्षेत्र को बढ़ाने पर दिया जाएगा बल - पठानिया

इस अवसर पर उपायुक्त डॉ. निपुण जिन्दल, पुलिस अधीक्षक डॉ. खुशाल शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. गुरदर्शन गुप्ता, वरिष्ठ एम.एस. डॉ. राजेश गुलेरिया और स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

वन मंत्री ने राज्यपाल से भेंट की

वन मंत्री राकेश पठानिया ने आज जिला कांगड़ा के धर्मशाला में राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर से भेंट की। यह एक शिष्टाचार भेंट थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।