• पेगासस प्रकरण: हरियाणा के कांग्रेस नेताओं ने किया प्रदर्शन, पुलिस ने राजभवन जाने से उन्हें रोका

विधायकों समेत कांग्रेस की हरियाणा इकाई के नेताओं ने पेगासस जासूसी विवाद के सिलसिले में बृहस्पतिवार को यहां प्रदर्शन किया और जब उन्होंने राजभवन की ओर कूच करने का प्रयास किया, तब उन्हें पुलिस ने रोक दिया।

चंडीगढ़। विधायकों समेत कांग्रेस की हरियाणा इकाई के नेताओं ने पेगासस जासूसी विवाद के सिलसिले में बृहस्पतिवार को यहां प्रदर्शन किया और जब उन्होंने राजभवन की ओर कूच करने का प्रयास किया, तब उन्हें पुलिस ने रोक दिया। पार्टी के हरियाणा मामलों के प्रभारी विवेक बंसल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा के नेतृत्व में नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने यहां पार्टी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया, लेकिन जब वे राजभवन की ओर जाने का प्रयास करने लगे तब पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

इसे भी पढ़ें: भारी बारिश के कारण कोंकण रेल मार्ग पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित, करीब छह हजार यात्री फंसे

कांग्रेस नेताओं ने संवाददाताओं से कहा कि पुलिस ने कोविड-19 के चलते लगायी गयी निषेधाज्ञा का हवाला दिया और उसने उन्हें मार्च नहीं निकालने दिया। सैलजा ने कहा, ‘‘हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे और पुलिस ने हमें आगे नहीं बढ़ने दिया।’’ विपक्षी दल के नेताओं ने कहा कि वे तो बस जासूसी विवाद के सिलसिले में राज्यपाल को ज्ञापन सौंपना चाहते थे। सैलजा ने कहा कि केंद्र को जवाब देना चाहिए कि विपक्षी नेताओं समेत देश में विभिन्न लोगों के कम से कम 300 फोन नंबरों की जासूसी के लिए इजराइली जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस का कथित इस्तेमाल उसके नाक के नीचे कैसे हो गया।

इसे भी पढ़ें: पुलिसकर्मी की हत्या के जुर्म में एक व्यक्ति को उम्रकैद की सजा सुनायी गयी

उन्होंने यह भी दावा किया कि जासूसी प्रकरण के संभावित पीड़ितों में शामिल राहुल गांधी सरकार के लिए इसलिए निशाना बन गये क्योंकि वह लोक महत्व के कई मुद्दे उठाते रहे हैं। इस बीच, इस प्रदर्शन में विधानसभा में विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा की गैर मौजूदगी के बारे में जब बंसल से पूछा गया तो उन्होंने संवाददताओं से कहा कि उन्होंने बता दिया था कि वह नहीं आ पायेंगे क्योंकि डॉक्टरों ने उन्हें स्वास्थ्य आधार पर कुछ दिनों के लिए आराम की सलाह दी है।