यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को देश वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास करेगी हरियाणा सरकार

यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को देश वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास करेगी हरियाणा सरकार

मुख्यमंत्री ने बताया कि स्थिति की निगरानी और नियंत्रण के लिए भारत सरकार ने पहले ही विदेश मंत्रालय के तहत विशेष नियंत्रण कक्ष स्थापित कर लिया है। इस नियंत्रण कक्ष में डॉ. आदर्श स्वाईका, संयुक्त सचिव के मार्गदर्शन में विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को नियुक्त किया गया है।

चंडीगढ़। यूक्रेन में मौजूदा अनिश्चितताओं और तनाव को देखते हुए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने वहां फंसे हुए भारतीय राष्ट्रीयता के सभी नागरिकों से आग्रह किया वे शांत रहें और घबराहट व चिंता से दूर रहें। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार भारतीय नागरिकों को देश वापस लाने के लिए भारत सरकार के विदेश मंत्रालय के साथ निकट सहयोग में हर संभव सहायता प्रदान करेगी।

 

मुख्यमंत्री ने बताया कि स्थिति की निगरानी और नियंत्रण के लिए भारत सरकार ने पहले ही विदेश मंत्रालय के तहत विशेष नियंत्रण कक्ष स्थापित कर लिया है। इस नियंत्रण कक्ष में डॉ. आदर्श स्वाईका, संयुक्त सचिव के मार्गदर्शन में विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन में फंसे सभी भारतीय नागरिक देश में सुरक्षित वापसी के लिए संबंधित अधिकारियों के साथ समन्वय करें।

 

इसे भी पढ़ें: सभी साहित्यकारों को एक समान फॉर्मूले से दी जाए सम्मान राशिः मुख्यमंत्री

 

मुख्यमंत्री ने दिल्ली में नियंत्रण कक्ष के संपर्क विवरण भी सांझे किये जो की हैं  फोन +91 11 23012113, +91 11 23014104, +91 11 23017905 और टोल फ्री नंबर 1800118797 । ई मेल: [email protected] यूक्रेन में भारतीय दूतावास में हेल्पलाइन के संपर्क विवरण हैं: फोन, +380 997300428 +380 99730483, ई मेल : [email protected]

 

मुख्यमंत्री ने बताया कि इसी तरह का नियंत्रण कक्ष हरियाणा में विदेश सहयोग विभाग के माध्यम से स्थापित किया गया है। भारतीय राष्ट्र के लोगों के लिए व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर  +91 9212314595 जारी किया गया है। भारतीय नागरिक ईमेल [email protected]  पर भी अपने सवाल पूछ सकते हैं या फिर सहायता ले सकते हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।