सपा उम्मीदवार ने हिंदुओं को दी धमकी तो भाजपा ने अखिलेश पर साधा निशाना, पूछा- क्या हिंदू विरोधी गुंडो को ही टिकट दिया ?

सपा उम्मीदवार ने हिंदुओं को दी धमकी तो भाजपा ने अखिलेश पर साधा निशाना, पूछा- क्या हिंदू विरोधी गुंडो को ही टिकट दिया ?
प्रतिरूप फोटो

भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि मेरठ दक्षिण से सपा उम्मीदवार आदिल चौधरी ने हिंदुओं को दी धमकी, कहा- हमारी सरकार आई तो छोड़ेंगे नहीं... चुनचुन कर बदला लिया जाएगा। क्या अखिलेश ने नाहिद हसन, आदिल चौधरी जैसे हिंदू विरोधी गुंडो को ही टिकट दिया है ?

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सियासत गर्माती हुई दिखाई दे रही है। इसी बीच मेरठ दक्षिण से समाजवादी पार्टी (सपा) उम्मीदवार आदिल चौधरी ने विवादित बयान देते हुए हिंदुओं से बदला लेने की धमकी दी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आई तो इनको छोड़ेंगे नही...चुनचुन कर बदला लिया जाएगा। सपा उम्मीदवार का विवादित वीडियो वायरल हो रहा है। जिसे साझा करते हुए भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। 

इसे भी पढ़ें: UP Assembly Election: कांग्रेस के 'स्टार प्रचारक' ने छोड़ा हाथ, हुए बीजेपी के साथ, कहा- देर आए दुरुस्त आए 

उन्होंने कहा कि मेरठ दक्षिण से सपा उम्मीदवार आदिल चौधरी ने हिंदुओं को दी धमकी, कहा- हमारी सरकार आई तो छोड़ेंगे नहीं... चुनचुन कर बदला लिया जाएगा। क्या अखिलेश ने नाहिद हसन, आदिल चौधरी जैसे हिंदू विरोधी गुंडो को ही टिकट दिया है ? आपको बता दें कि सपा उम्मीदवार आदिल चौधरी एक बंद कमरे में कुछ लोगों के साथ बैठे हुए दिखाई दे रहे हैं। इसी दौरान उन्होंने हिंदुओं को धमकी दी। सपा उम्मीदवार ने कहा कि जिस तरीके से यह लोग हमारे साथ जुल्म कर रहे हैं, उनसे बदला लिया जाएगा और इनको अहसास कराया जाएगा कि यह लोग 100 बार सोचेंगे।

इसे भी पढ़ें: योगी का अखिलेश पर तंज, कहा- खुद को कहते हैं समाजवादी, लेकिन इनके नस-नस में दौड़ रहा तमंचावाद

कौन है आदिल चौधरी ?

समाजवादी पार्टी के महानगर अध्यक्ष आदिल चौधरी को पार्टी ने मेरठ दक्षिण से चुनावी मैदान में उतारा है। इससे पहले साल 2012 में भी पार्टी ने उन्हें इसी सीट से उतारा था लेकिन 2017 में कांग्रेस के साथ सपा का गठबंधन होने की वजह से मेरठ दक्षिण की सीट कांग्रेस के खाते में गई थी। ऐसे में आदिल चौधरी को टिकट नहीं मिल पाया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।