Lakhimpur Murder Case: फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई का भरोसा, घर और 16 लाख की मदद के वादे के बाद दोनों लड़कियों का हुआ अंतिम संस्कार

Lakhimpur
Creative Common
अभिनय आकाश । Sep 15, 2022 9:49PM
घटना के बाद आक्रोशित पीड़ित परिवार ने दोनों नाबालिगों के अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया था। हालांकि प्रशासन ने उन्हें काफी समझाने की कोशिश की। इस दौरान प्रशासन की तरफ से कई वादें किए गए। जिसके बाद दोनों लड़कियों की अंत्येष्टि कर दी गई।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में दो नाबालिग दलित बहनों के एक पेड़ से लटके पाए जाने के एक दिन बाद, पुलिस ने गुरुवार को कहा कि उन्हें फांसी देने से पहले कथित तौर पर बलात्कार किया गया और फिर उनका गला घोंट दिया गया था। पुलिस ने कहा कि छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और उन पर यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम (पॉक्सो) 2012 की धाराओं के तहत आरोप लगाया गया। एक आरोपी को मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया। घटना के बाद आक्रोशित पीड़ित परिवार ने दोनों नाबालिगों के अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया था। हालांकि प्रशासन ने उन्हें काफी समझाने की कोशिश की। इस दौरान प्रशासन की तरफ से कई वादें किए गए। जिसके बाद दोनों लड़कियों की अंत्येष्टि कर दी गई। 

इसे भी पढ़ें: लखीमपुर खिरी में दलित बहनों की मौत के मामले में छह गिरफ्तार, मुठभेडृ में एक आरोपी घायल

प्रशासन ने पीड़ित परिवार से किए ये वादें

प्रशासन की तरफ से किए गए वादें के मुताबिक एससी/एसटी एक्ट के तहत दोनों मृत लड़कियों की मां को 8-8 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पीड़ित परिवार को घर दिया जाएगा। नौकरी और ज्यादा से ज्यादा आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा जाएगा। आरोपी को जल्द से जल्द फांसी के फंदे तक पहुंचाने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट में पैरवी की जाएगी। 

हत्या से पहले लड़कियों के साथ रेप

पुलिस ने छह आरोपियों की पहचान छोटू, जुनैद, सुहैल, हाफिजुल रहमान, करीमुद्दीन और आरिफ के रूप में की है। “सभी आरोपी और लड़कियां एक ही गांव की हैं। लखीमपुर खीरी के एसपी संजय कुमार ने कहा कि चेतराम का बेटा छोटू पहले से लड़कियों को जानता था और उसने ही तीनों आरोपियों से लड़कियों का परिचय कराया था। बाद में, जब लड़कियों ने उन्हें शादी के लिए मजबूर करना शुरू किया, तो आरोपियों ने गला घोंटकर उन्हें फांसी पर लटका दिया। पुलिस ने कहा कि हत्या से पहले दोनों लड़कियों के साथ बलात्कार किया गया था।

इसे भी पढ़ें: लखीमपुर खीरी मामले पर सख्त योगी सरकार, Dy CM बोले- अपराधी के खिलाफ ऐसी कठोरतम कार्रवाई होगी जो एक मिसाल बनेगी

परिवार ने की फांसी की मांग

पीड़िता की मां ने कहा कि बुधवार दोपहर करीब तीन बजे जब वह नहा रही थी तो उसने छोटू को अपनी बेटियों को बुलाते हुए सुना, जो अक्सर उनके घर आया जाया करता था। जल्द ही, तीन लड़के आए और उसकी बेटियों को घसीट कर ले जाने लगे। पीड़िता की मां ने कहा कि मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की और उनके पीछे भागी। लेकिन उन्होंने मुझे पीटा और भाग निकले। लड़कियों के परिवार वालों ने भविष्य में इस तरह के अपराधों को रोकने की उम्मीद में आरोपियों के लिए मौत की सजा की मांग की है। पीड़ितों के भाई ने कहा, "हम केवल आरोपी के लिए फांसी (मृत्युदंड) चाहते हैं। पीड़िता की मां ने कहा, 'जिस तरह से मेरी बेटियों को फांसी पर लटकाया है। उसी तरह से आरोपियों को भी फांसी पर लटकाया जाए।

अन्य न्यूज़