• उपचुनावों के मद्देनजर हिमाचल भाजपा ने शुरू की चुनाव की तैयारियां, सियासी माहौल गर्माया

भाजपा को हर सूरत में उप चुनाव जीतने हैं, यह जीत मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के राजनीतिक भविष्य को भी तय करेगी। चूंकि अगले साल प्रदेश में विधानसभा चुनाव है।

शिमला। हिमाचल प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी अगले माह होने जा रहे मंडी लोकसभा व तीन विधानसभा उपचुनावों के लिये चुनावी मोड में आ गई है। पार्टी ने अपने तमाम नेताओं को फील्ड में उतार दिया है ताकि समय रहते अपने कार्यकर्ताओं को मनाया जा सके। पार्टी को हर सूरत में यह चुनाव जीतने हैं, यह जीत मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के राजनीतिक भविष्य को भी तय करेगी। चूंकि अगले साल प्रदेश में विधानसभा चुनाव है। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल में जारी मूसलाधार बारिश, नदी के तेज बहाव में गिरी कार, तीन की मौत 

प्रदेश में मंडी लोकसभा के साथ जुब्बल कोटखाई व फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उपचुनावों के साथ अब पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निधन के बाद अर्की विधानसभा के भी उप चुनाव होने तय हैं जिसको लेकर प्रदेश में सियासी माहौल गरमा गया है। चुनाव आयोग किसी भी समय इसकी घोषणा करेगा तो दूसरी ओर सत्तारूढ दल भाजपा ने राजनीतिक बिसात बिछा दी है। इसी के चलते टिकट के चाहवान अपने टिकट की पैरवी के लिये जोड तोड में जुटे हैं तो पार्टी व सरकार चुवानी कार्यक्रम की घोषणा से पहले ही प्रचार का एक चरण पूरा करने में जुटी है।

दरअसल, चुनाव आयोग की घोषणा के साथ ही शिमला मंडी सोलन व कांगडा जिलों में आचार संहिता लागू हो जायेगी यही वजह है कि सीएम जयराम ठाकुर भी लगातार दौरे कर रहे हैं इसके साथ ही पार्टी प्रभारी अविनाश राय खन्ना सह प्रभारी संजय टंडन संगठन मंत्री पवन राणा के अलावा भाजपा नेता सौदान सिंह भी मैदान में डट कर कार्यकर्ताओं की रैलियां कर रहे हैं ।

प्रदेश भाजपा के लिये यह उपचुनाव खास मायने रखते हैं पार्टी हर सूरत में यह चुनाव जीतना चाहेगी। यही वजह है कि केंद्रीय नेतृत्व इसको लेकर गंभीर हो गया है सीएम जयराम ठाकुर ने हाल ही में दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात के दौरान प्रदेश के राजनीतिक हालात पर भी चर्चा हुई है आने वाले उप चुनावों में इस बार सीएम जयराम ठाकुर की पसंद के ही प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे जाने की संभावना है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जय राम ठाकुर ने पार्टी नेतृत्व को संभावित उम्मीदवारों की सूची भी दी है। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल में सीएम जय राम ठाकुर की बढ़ती ताकत के साथ नया राजनैतिक महौल तैयार होने लगा 

मंडी संसदीय चुनाव क्षेत्र जहां राम स्वरूप शर्मा के निधन के बाद उपचुनाव होने जा रहे हैं में उपचुनाव के लिये पार्टी व जयराम ठाकुर की पहली पसंद जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह बताये जा रहे हैं हालांकि यहां से नरेन्द्र अत्री महेशवर सिंह प्रवीण शर्मा की भी दावेदारी है। वहीं जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र की सीट जो कि नरेन्दर बरागटा के निधन से खाली हुई है में जय राम ठाकुर ने खुलेआम नरेन्दर बरागटा के बेटे चेतन बरागटा की पीठ थपथपाई है। चेतन बरागटा प्रदेश आईटी सेल के संयोजक हैं व मरहूम बरागटा के बेटे हैं को टिकट दिये जाने की हिमायत पार्टी में की जा रही है।

इसी तरह कांगडा जिला के फतेहपुर जहां कांग्रेस विधायक सुजान सिंह पठानिया के निधन के बाद उपचुनाव होने जा रहे हैं में पिछला चुनाव हारे कृपाल परमार को लेकर पेंच फंसा है परमार अपने टिकट की पैरवी कर रहे हैं तो दूसरी ओर उनको चुनाव मैदान में उतारने को लेकर सहमति बनती नजर नहीं आ रही खुद सीएम जयराम ठाकुर ने भी दिल्ली बैठक में परमार के विकल्प के तौर पर किसी दूसरे नेता को मैदान में उतारने की हिमायत की है।

प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात के दौरान सीएम जयराम ठाकुर पार्टी का खाका रखा है उसके बाद अब तय हो गया है कि उपचुनावों में प्रत्याशी चयन में जय राम ठाकुर की ही चलेगी। व उनके कहने पर ही टिकट दिये जायेंगे। भाजपा प्रभारी अविनाश राय खन्ना से बातचीत करते हुए कहा कि हम भारतीय जनता पार्टी के सच्चे सिपाही है और भाजपा के लिए हर दम कार्य करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: आपातकाल परिस्थितियों में भी भाजपा परिवार जनता के साथ: सुरेश कश्यप 

भाजपा नेताओं ने कहा की आगामी पार्टी के कार्यक्रमों को लेकर सभी कार्य में लगे हैं और केंद्र एवं प्रदेश सरकार की जन कल्याण योजनाओं को लेकर घर घर जाकर इनका प्रचार भी करेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा एक ऐसा वृक्ष है जो व्यक्ति इससे जुड़ा रहता है वह आगे बढ़ता है इससे टूट कर कभी भी कोई नेता नहीं बन पाया।